National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

केजरीवाल को तय करना पड़ेगा कि देशद्रोहियों के साथ हैं या दिल्ली की जनता के साथ : मीनाक्षी लेखी

विजय न्यूज़ ब्यूरो
नई दिल्ली । दिल्ली भाजपा कार्यालय में आयोजित पत्रकार सम्मेलन को सम्बोधित करते हुये भाजपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं सांसद श्रीमती मीनाक्षी लेखी ने देशद्रोह के मामले में आरोपी कन्हैया कुमार और उसके साथियों पर मुकदमा चलाने की अनुमति न देने की केजरीवाल सरकार की मंशा को दिल्ली की जनता के सामने उजागर करने को लेकर पत्रकार वार्ता की। इस पत्रकार वार्ता में प्रदेश मीडिया प्रभारी श्री प्रत्युष कंठ, सह-प्रभारी श्री नीलकांत बख्शी एवं मीडिया प्रमुख श्री अशोक गोयल देवराहा उपस्थित थे।

पत्रकारों को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं नई दिल्ली की सांसद श्रीमती मीनाक्षी लेखी ने कहा कि देश के 130 करोड़ लोगों का तब से खून खौल रहा है जब से केजरीवाल सरकार के गृह मंत्रालय ने कन्हैया कुमार और उनके साथियों पर देशद्रोह का मुकदमा चलाने को लेकर कहा कि उनके खिलाफ देशद्रोह के कोई सबूत नहीं मिले हैं, जबकि दिल्ली पुलिस ने सबूतों व तथ्यों के आधार पर चार्जशीट तैयार कर न्यायालय के सामने गवाहियां करवाई व 40 से अधिक सबूत पेश किये हैं। हैदराबाद से फॉरेंसिक जांच के बाद आई हुई वीडियो में प्रत्यक्ष तौर पर दिख रहा है कि कन्हैया कुमार और उनके साथी देश विरोधी नारे लगा रहे हैं। न्यायालय ने केस चलाने को लेकर दिल्ली सरकार से अनुमति मांगने की बात कही, लेकिन केजरीवाल सरकार ने साढे तीन वर्षों तक जानबूझ कर स्वार्थ परक राजनीति करते हुए पुलिस और न्यायालय के काम को बाधित कर रहे हैं।
श्रीमती मीनाक्षी लेखी ने कहा कि केजरीवाल ने कन्हैया कुमार और उनके साथियों पर देशद्रोह का मुकदमा चलाने की अनुमति न देकर भारत के संविधान की धज्जियां उड़ाई है। संविधान में आस्था न रखने वाले केजरीवाल देशद्रोहियों के साथ खड़े हैं। पहले जेएनयू के छात्र संघ चुनाव को प्रभावित करने को लेकर और फिर दिल्ली से की जा रही अपनी राजनीतिक सत्ता को बचाने के लिए देश विरोधी ताकतों का साथ केजरीवाल दे रहे हैं। केजरीवाल अपनी स्थिति स्पष्ट करें कि वह क्यों देशद्रोहियों को संरक्षण दे रहे हैं। क्या इन लोगों को आगामी विधानसभा चुनाव का टिकट देने की तैयारी कर रहे हैं। देश व दिल्ली की जनता केजरीवाल सरकार की ओर देख रही है कि वह देश के साथ खड़े हैं या फिर देशद्रोहियों के साथ। दिल्ली की जनता फैसला कर चुकी है, उसे देशद्रोहियों का साथ देने वाली सरकार नहीं, राष्ट्रवादी विचारधारा से प्रेरित सबका साथ सबका विकास सबके विश्वास के साथ करने वाली भाजपा की पूर्ण बहुमत की सरकार चाहिए।

Print Friendly, PDF & Email
Translate »