ब्रेकिंग न्यूज़

दिल्ली में कांवडियों की हुडदंगता का नंगा नाच

नई दिल्ली। सावन माह में निकले वाली कांबड यात्रा पर प्रशासन पूरी तरह से मुस्तैद होता। कांवडियों की रक्षा-सुरक्षा के लिए पूरे देश में व्यवस्था चका चौबंद की जाती है। लेकिन कांवडिए इसका नाजायज फायदा उठाते हैं। दरअसल कावंडिए प्रशासनिक सुविधा को गुंडागर्दी का लाइसेंस समझ बैठते हैं। कांवडियों की हुड़दंगई का ताजा मामला दिल्ली में देखने को मिला। शरीर से कार के छू जाने मात्र से ही कांवडिए इतने आगबबूला हो गए कि उन्होंने कार को सड़क पर कबाड बना दिया। दर्जनों कांवडिए कार पर ऐसे पिल पड़े की मानो कार से कोई बड़ा गुनाह हो गया हो। गनीमत इस बात की रही है कि समय रहते कार में बैठे लोग सुरक्षित निकल गए। नहीं तो कांवडिए उनको भी निशाना बना डालते। कांवडियों द्वारा कांवड यात्रा के दौरान राहगीरों से मारपीट करना, बीच सड़क पर दारू पीना, महिलाओं से भद्दे अश्लील कमेंट करना, हुडदंग मचाना आदि की खबरें तो आए दिन सुनने को मिलती ही रहती हैं। प्रशासन की सर्तकता के बावजूद भी इस तरह की खबरे बाहर आना सुरक्षा-व्यवस्था पर सवाला खड़ा करती है। बता दें कांवडियों का रोद्र रूप मंगलवार को दिल्ली के मोती नगर में देखने को मिला। बीच सड़क पर कांवड़ियों ने जो तांड़व दिखाया उसकी कल्पना भी नहीे की जा सकती। मोती नगर इलाके में कांवड यात्रा के दौरान एक कांवडिए से सड़क पर चलते समय एक कार थोड़ी सी छू गई थी। कार के छू जाने से ही कांवडिए इस कदर बौखला गए कि उन्होंने कार को सड़क पर तोड़ डाला। हैरान करने वाली बात यह है कि पुलिस की मौजूदगी में कांवड़ियांे ने कार को क्षतिग्रस्त किया। उनको रोकने के बजाय पुलिसकर्मी मूकबधिर बनकर तमाशा देखते रहे है। पुलिस के सामने ही कांवड़िए कार पर लाठी-डंडे बरसाते रहे। इस दौरान यातायात भी बाधित हो गया और वहां लोगों की भारी भीड़ भी एकत्र हो गई लेकिन उनमें से भी उन्हें रोकने की किसी ने हिम्मत नहीं दिखाई।

Print Friendly, PDF & Email
Translate »