National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

मुझे साइको कैरेक्टर प्ले करना पसंद है : रिशब

दिनेश जाला

इन दिनों सुर्खियाँ बटोर रही फिल्म ‘मरने भी दो यारो’से बॉलीवुड में डेब्यू करने वाले अभिनेता रिशब चौहान इस फ़िल्म में एक स्माल टाउन बॉय के किरदार निभाते हुए नजर आएँगे। उनके साथ हाल ही में तरुण मित्र से हुई इंटरव्यू के दौरान बातचीत के मुख्य अंश पेश:-

आप अपनी पहली डेब्यू फिल्म ‘मरने भी दो यारो’ को लेकर कितने एक्साइटेड हो?
मरने भी दो यारो मेरी पहली फ़िल्म है और उसका इक्साइमेंट लेवल बता भी नही सकता,की कितना है, में काफी समय से इंतजार कर रहा था कि कुछ अच्छा काम करूँ, और फाइनली में एक अच्छा काम कर रहा हूं,और जिन लोगों के साथ काम कर रहा हु उन लोगों ने मुझे बहुत सपोर्ट किया है।और डिरेकटर से मैंने बहुत कुछ सीखा है। और फ़िल्म के जितने भी लोग हैं सिनेमैटोग्राफर,से लेकर सभी ने मुझे सपोर्ट किया।यह फ़िल्म के जरिए मुझे नया परिवार मिला है।

इस फ़िल्म में आप कैसा किरदार निभा रहे हैं?
जैसे कि हर लड़का जो होता है जिसे स्मॉल टाउन बॉय बोलते हैं जो लाइफ में कुछ बड़ा करना चाहता है अपने परिवार के लिए कुछ करना चाहता है, मैं भी उन्हीं में से एक लड़के का किरदार निभा रहा हूं।

आपके को स्टार के साथ काम करने का अनुभव कैसा रहा?
मेरे लिए कृष्ण भैया के साथ काम करना मेरे लिए एक ट्रेनिंग थी,और वो एक बेस्ट एंटरटेनर और उसकी जो कॉमेडी टाइमिंग है वो अन्विलिबल, वो इतना अच्छा काम करते हैं कि में शोक हो जाता था कि कितना अच्छा कर लेते है और मैंने उनसे बहुत कुछ सीखने की कोशिश की है।

आप इस फ़िल्म में काम कर के कितना संतुष्ट हैं?
यह बहुत ही डिफ़ॉल्ट सवाल है कि आप कितना संतुष्ट हैं क्योंकि संतुष्ट मतलब सेटिस्फेक्शन की आप अपनी लाइफ में किसी चीज को लेकर सेटिस्फाई हो जाते हो,और में बहुत हैप्पी हूं कि मैंने अपना काम बहुत मेहनत से किया है, और मैंने कोशिश की है कि में बहुत अच्छा काम दिखा सकू।

इसके अलावा आप कोनसे प्रोजेक्ट में नजर आएँगे?
में अभी एक वीडियो एलबम का प्लान कर रहे हैं, और एक फ़िल्म है जो मार्च में शूट करने का सोच रहे हैं और उसके बारे में भी बहुत जल्द पता चलेगा।

आप कैसे किरदार और कैसी फ़िल्म करना पसंद है?
शाहरुख खास सर की जो डर नाम की फ़िल्म है उस टाइप का रोल करने का बहुत मन है, और में खुद को बहुत साइको समझता हूं,और में साइको कैरेक्टर प्ले करना चाहता हूं,और साइको मतलब पागलपन जिनके अंदर एनेजेटिक होता है में वो करना चाहता हूं जैसे कबीर सिंह हो गया उस टाइप का रोल मिले।

Print Friendly, PDF & Email
Translate »