National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

Category: तनवीर जाफ़री

Total 5 Posts

रोहिंग्या शरणार्थी और ‘वसुधैव कुटुंबकम’

म्यांमार(बर्मा)में रोहिंग्या समाज के लोगों के विरुद्ध चल रहे सैन्य एवं राज्य प्रायोजित नरसंहार के बाद बर्मा के रखाईन प्रांत से रोहिंग्या लोगों का पलायन जारी है। रोहिंग्या समाज के

राजनीति:राष्ट्र सेवा या व्यवसाय ?

कहने को तो राजनीति को समाज तथा राष्ट्रसेवा का माध्यम समझा जाता है। राजनीति में सक्रिय किसी भी व्यक्ति का पहला धर्म यही होता है कि वह इसके माध्यम से

रोहिंग्या समस्या: शांति दूत के देश में?

अफगानिस्तान के बामियान प्रांत में मार्च 2001 में जब तालिबानी नेता मुल्ला मोहम्मद उमर के आदेश पर छठी शताब्दी में विशाल पत्थर से निर्मित महात्मा बुद्ध की प्रतिमाओं को तोप

‘न्याय’ के समक्ष नई चुनौतियों की आहट ?

हमारे देश में लोकतंत्र को चार स्तंभों पर टिका हुआ माना जाता है। परंतु वर्तमान दौर में इन चार स्तंभों में कार्यपालिका,संसदीय व्यवस्था तथा प्रेस जैसे स्तंभ साफतौर पर लडख़ड़ाते

महिला सशस्त्रीकरण: ढोल का पोल

एक ही समय व एक ही प्रवाह में तलाक-तलाक़-तलाक़ बोलकर अपनी पत्नी को तलाक़ दिए जाने जैसी भौंडी व अमानवीय परंपरा को पिछले दिनों देश के सर्वोच्च न्यायालय ने असंवैधानिक

Translate »
Skip to toolbar