ब्रेकिंग न्यूज़

Category: साहित्य

Total 135 Posts

भारतीय साहित्यिक विकास मंच और अखिल भारतीय हिन्दी साहित्य सभा द्वारा काव्य संध्या का आयोजन

संजय कुमार गिरि नई दिल्ली। भारतीय साहित्यिक विकास मंच और अखिल हिन्दी साहित्य सभा- दिल्ली शाखा के संयुक्त तत्वाधान में रविवार 24 दिसंबर को दिल्ली के श्रीनिवासपुरी में आयोजित गोष्ठी/निशिस्त

ओम प्रकाशप्रजापति को मिला ” भारत गौरव सम्मान- 2017 ”

लाल बिहारी लाल नई दिल्ली। टुडे लाइव न्यूज व आरोग्य दर्पण के संयुक्ततत्वावधान में कॉन्स्टिट्यूशन क्लब, नई दिल्ली में “सोशल मीडिया और भारतीय संस्कृति” विषय पर सेमिनारतथा “भारत गौरव सम्मान-

दिल्ली दूरदर्शन ने किया कवि सम्मलेन का आयोजन

विजय न्यूज़ ब्यूरो। नई दिल्ली। दिल्ली दूरदर्शन के द्वारा कवि सम्मेलन   का आयोजन किया गया। मंच संचालक और एंकरिंग  डॉ. रेखा ने की ।  कार्यक्रम में अलग अलग राज्यों से

व्यंग्य : राष्ट्रीय त्योहार ..चुनाव जयंती

यद्यपि भारत की पवित्र भूमि पर प्रत्येक वर्ष विभिन्न त्योहार व उत्सव मनाए जाते हैं । जिनमें सामाजिक पर्व , सांस्कृतिक पर्व व राष्ट्रीय पर्व सम्मिलित हैं । जिनका संबंध

कविता : नव सृजन

नव सृजन ****** उठो जागो अब वहुत हो चुका विश्राम समय खिसक रहा नही रहा अभिराम। सबको जागृत कर दग्ध हृदय में नयी स्फूर्ति उत्साह का निज धाम समरसता सौहार्द

23 दिसम्बर जन्मदिवस : चौधरी चरण सिंह महान व्यक्तित्व के गौरव थे

23 दिसम्बर 1902 का वह दिन एैतिहासिक था जबकि पिता चौधरी मीर सिंह माता श्रीमती नेमी देवी के घर में ग्राम भटौना जिला बुलन्दशहर उ0प्र0 में चरण सिंह नामक बच्चे

व्यंग्य : तीखी मिर्ची का DNA टेस्ट….

अरे ! शर्मा जी ज़रा रुकिए । कैसे हैं , काफी दिनों बाद दिखाई दिए ? चाय तो पीते जाइये । मैंने पीछे से आवाज़ लगाई । हम आवाज लगाते

नव वर्ष अभिनंदन काव्य-गोष्ठी का आयोजन

संजय कुमार गिरि प्रज्ञान पुरुष पंडित सुरेश नीरव जी की अध्यक्षता में ‘अखिल भारतीय सर्वभाषा संस्कृति समन्वय समिति’ एवं ‘नव जन चेतना के संयुक्त तत्त्वावधान में वर्ष 2017 की विदाई-वेला

लाल बिहारी लाल के तीन मुक्तक

लाल बिहारी लाल के तीन मुक्तक मुक्तक-१ जनता के जज्बातों से खेलना मेरा काम देखो सीना छप्पन से अच्छा हो परिणाम दुनिया चाहे कुछ भी कहे लाल की चले दुकान

गोवा मुक्ति आंदोलन के प्रखर सेनानी थे डॉ लोहिया

गोवा मुक्ति दिवस प्रति वर्ष 19 दिसम्बर को मनाया जाता है। भारत को 1947 में आजादी मिल गई थी, लेकिन इसके 14 साल बाद भी गोवा पर पुर्तगाली अपना शासन

कविता : ‘एक चिड़िया’

‘एक चिड़िया’ ……………………………………….. संस्कारों के ढहते  किलों के नीचे दब गई है /एक चिड़िया/ उसकी चहक वहशी दरिंदों की शिकार/ सुनहले सपनों के सूरज की किरण न देख सकी ना

व्यंग्य : एक प्याज की कीमत तुम क्या जानो रमेश बाबू !

भाईसाहब ! वड़ापाव वाले से जैसे ही हमने एक्स्ट्रा प्याज मांगे उसने हमको ऐसे देखा जैसे हमने उसकी एक किडनी मांग ली हो। यहां तक दूसरे दिन उसने अपने ठेले

नूर साहब अपनी शायरी में हमेशा ज़िन्दा रहेंगे

किसी किसी को खुदा की ये देन मिलती है, नहीं है सबके मुकद्दर में शायरी करना इस ख़ूबसूरत शे’र को कहने वाले हर दिल अजीज़ शायर श्याम नंदा नूर अब

सुविख्यात राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर जी की 109 वीं जयंती पर किया गया याद

सुविख्यात राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर  जी की 109 वीं जयंती के मौके पर परिचर्चा- नवीन भारत में हिंदी कार्यक्रम आयोजित कर लोगों ने उनको याद किया। शनिवार को दोपहर 3

कविता : वो भी एक बच्ची है

वो भी एक बच्ची है चौराहे पर गुब्बारे को बेचती एक बच्ची धूल में नहाये कुछ सपने खरीदने हैं उसे गाड़ियों की रफ़्तार से अनभिज्ञ खड़ी हो जाती इंतजार में

संगीत साहित्य मंच द्वारा काव्य संध्या का आयोजन

मुंबई। ठाणेे मुंबई में संगीत साहित्य मंच की कवि गोष्ठी सायंकाल 5 बजे से रात्रि 10 बजे तक संपन्न हुई जिसकी अध्यक्षता विशेष रूप से आमंत्रित साहित्यकार डा0 देवनारायण शर्मा

लोधी गार्डन में बही काव्य गंगा

नई दिल्ली। पर्पल पेन साहित्यिक समूह द्वारा रविवार, को दिल्ली के लोधी गार्डन में “राॅनदेवू” (मिलन स्थल) नाम से एक काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया । इतिहास की पृष्ठभूमि

व्यंग्य : गब्बर का चुनाव जीतना

गब्बर ने कालिया से सवाल करते हुए पूछा – अरे ! कालिया, तनिक बता तो खरा हमारे देश में चुनाव के क्या मायने हैं ? कालिया ने कहा – सरदार

कविता : गांव की पगडंडी

गांव की पगडंडी गांव की वो धुँधली पगडंडी रह रह कर याद आती है हरे भरे खेतों के बीच भीनी सी खुशबू समेटे बलखाती इतराती मेरे गाँव की पगडंडी जो

Translate »
Skip to toolbar