National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

Category: बाल मुकुन्द ओझा

Total 17 Posts

गुरु नानक ने समाज में भलाई का सन्देश दिया था

हमारे साधु संतों ने सदा सर्वदा समाज को भलाई का मार्ग दिखाया था। इसी परम्परा का निर्वहन करते हुए गुरु नानक देव ने समाज को झूठ, प्रपंच और अहंकार को

तेल ने लगाई अच्छे दिनों को आग

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट का फायदा आम जनता तक नहीं पहुंच रहा है। देश में लगातार बढ़ते पेट्रोल-डीजल के दाम से समाज का हर वर्ग

खुशहाल भारत का सपना खंडित कर रही है नवजात शिशुओं की मौत

यूनिसेफ की ताजा रिपोर्ट में एक बार फिर भारत में नवजात शिशुओं की मौत पर चिंता जाहिर की गई है। जो आंकड़े जारी किये गए है वे निश्चय ही भयावह

हिन्दी दिवस पर विशेष : हिंदी की दुर्दशा के लिए आखिर कौन जिम्मेदार है

राष्ट्रभाषा का शाब्दिक अर्थ है राष्ट्र में आमजन की भाषा। जो भाषा जन जन के विचार विनिमय का माध्यम हो, वह राष्ट्रभाषा कहलाती है। महात्मा गाँधी ने भारत में हिंदी

चिकित्सा दिवस : प्राथमिक चिकित्सा जीवन रक्षा

प्राथमिक चिकित्सा वह उपचार है जो किसी दुर्घटना या आकस्मिक बीमारी के कारण पीड़ित व्यक्ति को अस्पताल पहुँचने से पूर्व दी जाये ताकि प्रभावित व्यक्ति को कुछ समय के लिए

सड़क दुर्घटनाओं के शिकार हो रहे युवा और उजड़ रहे परिवार

देश में दिल दहलाने वाले सड़क दुर्घटनाओं के आंकड़े सरकार ने जारी किये है। इन आंकड़ों को देखकर लगता है हम अपने जीवन के प्रति कतई सावचेत और जागरूक नहीं

साक्षरता से आत्मविश्वास का संचार

साक्षरता को केवल अक्षरों तक सीमित नहीं करना चाहिए। साक्षरता का अर्थ है कि व्यक्ति किसी सामग्री को अपनी भाषा में पढ़कर समझ सके। उसका आनंद ले सके। इसके साथ

शिक्षा सेवा सबसे बड़ी मानव सेवा है

डॉ. राधाकृष्णन अपने बुद्धिमत्तापूर्ण व्याख्याओं, आनंदमयी अभिव्यक्ति और हँसाने, गुदगुदाने वाली कहानियों से अपने छात्रों को प्रेरित करने के साथ ही साथ उन्हें अच्छा मार्गदर्शन भी दिया करते थे। वे

महिला अपराधों में जन प्रतिनिधियों की संलिप्तत्ता

आसाराम बापू के बाद बलात्कारी बाबा के नाम से कुख्यात हुए राम रहीम के काले कारनामे उजागर होने के बाद देश में एक बार फिर महिला अस्मिता और सम्मान की

स्वाइन फ्लू की महामारी से जूझ रहा है देश

देश में इन दिनों हर तरफ स्वाइन फ्लू की ही चर्चा है। हर व्यक्ति चिंतित है कि कहीं उसे भी स्वाइन फ्लू न हो जाये। देश के कई प्रदेशों में

Translate »
Skip to toolbar