ब्रेकिंग न्यूज़

जन्मदिन 19 दिसंबर : समानांतर सिनेमा को नया आयाम दिलाया गोविन्द निहलानी ने

जन्मदिन 19 दिसंबर पर विशेष

मुंबई। बॉलीवुड में गोविन्द निहलानी का नाम एक ऐसे निर्देशक के रूप में शुमार किया जाता है जिन्होंने समानांतर सिनेमा को पहचान दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की। कराची (अब पाकिस्तान) में 19 दिसंबर 1940 को जन्में गोविन्द निहलानी ने अपने करियर की शुरूआत बतौर छायाकार की। बतौर निर्देशक निहलानी ने अपने करियर की शुरूआत वर्ष 1980 में प्रदर्शित फिल्म आक्रोश से की। आक्रोश वास्तविक घटनाओं पर आधारित फिल्म थी जिसकी पटकथा विजय तेंदुलकर ने लिखी थी। इस फिल्म की कहानी एक ऐसे व्यक्ति के बारे में थी जिस पर अपनी पत्नी की हत्या करने का आरोप लगाया जाता है।
इस फिल्म में ओमपुरी.नसीरूद्दीन साह. स्मिता पाटिल और अमरीश पुरी ने मुख्य भूमिकाएं निभायी थी।
इस फिल्म को कई राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित किया गया। वर्ष 1983 में प्रदर्शित फिल्म ‘अर्धसत्य’ गोविन्द निहलानी के करियर की महत्वपूर्ण फिल्मों में शुमार की जाती है। अर्द्धसत्य एक ऐसे जांबाज पुलिस अधिकारी की कहानी है जो अपराध की जड़ को समाप्त कर देना चाहता है। इस फिल्म में जांबाज पुलिस ऑफिसर की भूमिका ओम पुरी ने निभायी थी। इसके अलावा अन्य भूमिकाओं में सदाशिव अमरापुरकर .स्मिता पाटिल और नसीरूद्दीन साह प्रमुख थे। अर्द्धसत्य को अलग-अलग वर्गों में पांच फिल्म फेयर पुरस्कार दिये गये थे। इन सबके बीच गोविन्द निहलानी ने पार्टी.आघात.तमस.दृष्टि. द्रोहकाल और हजार चौरासी की मां जैसी कई नायाब फिल्मों का निर्देशन किया। चर्चा है कि गोविन्द निहलानी इन दिनों अपनी सुपरहिट फिल्म अर्द्धसत्य का सीक्वल बनाने की तैयारी कर रहे है।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Translate »
Skip to toolbar