ब्रेकिंग न्यूज़

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय बताएं कंडोम का विज्ञापन दिन में क्यों नहीं दिखा सकते? : राजस्थान हाईकोर्ट

जयपुर। राजस्थान हाईकोर्ट में आज कंडोम के विज्ञापन के समय निश्चित किये जाने को लेकर सुनवाई की। मुख्य न्यायाधीश प्रदीप नंदराजोग और न्यायाधीश डीसी सोमानी की खंडपीठ ने केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया है। याचिकाकर्ता ग्लोबल एलायंस फॉर ह्यूमन राइट्स की जनहित याचिका में कहा गया था कि भारत में जनसंख्या इतनी ज्यादा बढ़ रही है, जिसके प्रति लोगों में जागरुकता लाने के लिए कंडोम के विज्ञापन पूरे दिन चलाए जाने में क्या हर्ज है? यदि कंडोम के विज्ञापन केवल रात में ही दिखाए जाते हैं तो लोगों में पूरी तरह से जागरुकता कैसे आएगी?

जागरूकता फैलाता है कंडोम का विज्ञापन !
वहीं, याचिकाकर्ता ने देश में बढ रहे एचआईवी के मामलों से भी जागरूकता का एक आधार कंडोम को बताया है। इसमें कहा गया है कि कंडोम के विज्ञापन दिखाकर भी लोगों को इस जानलेवा बीमारी के प्रति जागरुक किया जा सकता है। इस मामले में सुनवायी करते हुए आज हाईकोर्ट ने केन्द्र सरकार से पूछा कि कंडोम के विज्ञापनों को दिन क्यों नहीं दिखाया जा सकता है?

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Translate »
Skip to toolbar