ब्रेकिंग न्यूज़

मां और पत्नी से मिले कुलभूषण, 30 मिनट चली मुलाकात

नई दिल्ली: एक बार फिर पाकिस्तान का निष्ठुर व्यवहार सामने आया है. एक बेटा अपनी ही मां के पैर तक नहीं छू सका, एक पत्नी अपने पति के गले तक नहीं लग सकी. आपको जानकर हैरानी होगी कि कुलभूषण जाधव से उनकी मां और पत्नी की मुलाकात शीशे की दीवार के बीच पाकिस्तान ने कराई. अब सवाल यह है कि जब कई पाकिस्तानी अफसर मौजूद थे तो शीशे की दीवार की क्या जरूरत आन पड़ी? मुलाकात के बाद कुलभूषण जाधव ने पाकिस्तान को शुक्रिया कहा. पाकिस्तान ने जाधव को भारतीय जासूस होने का दोषी ठहराते हुए मौत की सजा सुनायी है. जाधव की मां और पत्नी दुबई के रास्ते सोमवार सुबह इस्लामाबाद पहुंचे. नयी दिल्ली-इस्लामाबाद के बीच सीधी उड़ानें बहुत कम ही हैं. दोनों शहरों के बीच जो एक स्टॉप वाली उड़ानें हैं, उसमें भी 10 घंटे का वक्त लगता है. भारत के एक पूर्व नेवी ऑफिसर के खिलाफ पाकिस्तान ने गहरी साजिश रची. ब्लूचिस्तान में भारत की जासूसी के अपने आरोपों को दुनिया में साबित करने के लिए एक मनगढ़ंत कहानी तैयार की. और कुलभूषण जाधव उसी कहानी के किरदार बनाए गए. कुलभूषण को गिरफ्तार कर पाकिस्तान ने उनपर जासूसी का आरोप लगाया और पाकिस्तान से गिरफ्तार करने का दावा किया जिसे भारत बार बार खारिज कर चुका है. भारत का एक पूर्व नेवी ऑफिसर पिछले डेढ़ साल से पाकिस्तान की जेल में बंद है. पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव पर जासूसी का आरोप मढ़कर उसे सलाखों के पीछे बंद कर दिया. ना कोई वकील.. ना कोई गवाह.. ना कोई दलील.. पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव को रॉ का एजेंट बताकर गिरफ्तार किया. आर्मी कोर्ट में जासूसी का मुकदमा चलाया और उन्हें फांसी की सजा तक सुना दी गई. भारत ने पाकिस्तान की ओर से कुलभूषण पर लगाए गए आरोपों को कई बार खारिज किया. लेकिन पाकिस्तान अपनी जिद पर अड़ा रहा है बल्कि अपने आरोपों को सच साबित करने के लिए उसने कुलभूषण के कुछ वीडियो भी जारी किए. जिसमें कुलभूषण के पाकिस्तान पहुंचने की बात कबूल करते दिखाया गया है. जाधव पर पाकिस्तान के आर्मी कानून के तहत मुकदमा चलाया गया. सुनवाई के बाद पाकिस्तान की अदालत ने उन्हें फांसी की सजा सुनाई है. हालांकि इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस में भारत की दलीलों के बाद कुलभूषण की फांसी पर रोक लगा दी गई थी. कुलभूषण पर पाकिस्तान को आरोपों को भारत झूठ का पुलिंदा बताता रहा है. अब भले ही कुलभूषण की पत्नी और मां को मिलाकर पाकिस्तान इंसानियत की दुहाई दे रहा है, लेकिन उसके नापाक मकसद से हर कोई वाकिफ है.

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Translate »
Skip to toolbar