ब्रेकिंग न्यूज़

सच होता कांग्रेस मुक्त भारत का सपना

समाजवादी नेता डॉ राम मनोहर लोहिया ने कांग्रेस मुक्त भारत का सपना देखा था जो उनके जीवित रहते पूरा नहीं हो सका। लोहिया के चेले ही अपने नेता के सपने में अवरोध खड़ा करने लगे। अनेक लोहियावादी कांग्रेस में चले गए जो नहीं गए उनमें लालू और मुलायम सरीखे नेता कांग्रेस की गोद में बैठ गए। लोहिया के सपने को पूरा करने में भाजपा उनकी मददगार बनी।
जनसंघ ने कभी कांग्रेस मुक्त भारत का सपना नहीं देखा मगर भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस मुक्त भारत का सपना देखा जो अब पूरा होने जा रहा है। कभी लोकसभा में अटल बिहारी वाजपेयी ने कहा था वह दिन दूर नहीं जब देश में कमल खिलेगा। नरेंद्र मोदी आज वाजपेयी का सपना पूरा करने जा रहे है। उन्होंने एक के बाद एक राज्य से कांग्रेस को सत्ताच्युत कर अपने राण कौशल का परिचय दिया है। मोदी ने अपने विश्वस्त अमित शाह को भाजपा की कमान सौंप कर कांग्रेस को देश से खदेड़ना शुरू कर दिया है। वर्ष 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में पहली बार नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पूर्ण बहुमत वाली भाजपा सरकार के गठन के बाद से पिछले तीन सालों में हुए देश के कई राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में एक-दो अपवादों को छोड़ दें तो भाजपा की इस जोड़ी के विजय रथ को कोई रोक नहीं सका है। गुजरात में लगातार छठवीं बार भाजपा का सत्ता पर कब्जा बरकरार रख हिमाचल में विजय पताका फहराने के साथ भाजपा अपने कांग्रेस मुक्त भारत के नारे को सच करने की दिशा में लगातार अग्रसर है।
गुजरात और हिमाचल प्रदेश में भगवा लहर के बाद भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस मुक्त भारत की तरफ एक कदम और आगे बढ़ा लिया है। बीजेपी ने लगातार छठी बार गुजरात में पूर्ण बहुमत की सरकार बनाई है। वहीं हिमाचल प्रदेश में बीजेपी ने कांग्रेस के हाथ से सत्ता छीन लीं है। इस जीत के साथ ही कांग्रेस मुक्त भारत का नारा देने वाली बीजेपी की 20 राज्यों में सरकार बन गई है। वहीं कांग्रेस के पास अब केवल चार राज्यों कर्नाटक, पंजाब, मिजोरम मेघालय और एक केंद्र शासित प्रदेश में सरकार है। अगर अब तक के आंकड़ों को टोटल किया जाए तो देश की कुल आबादी के करीब 68 फीसदी पर सहयोगियों के साथ बीजेपी का राज हो गया है । हिमाचल 19वां राज्य है जहां उसकी सरकार है । पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह के नेतृत्व में बीजेपी ने सियासी तौर पर बेहद जटिल माने जाने वाले राज्यों में भी सरकार बनाने में कामयाबी हासिल कर ली है। यहां तक कि पूर्वोत्तर में जहां कोई बीजेपी के बारे में सोचता नहीं था, वहां भी भगवा लहरा रहा है।
दरअसल, 2014 लोकसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत हासिल करने के बाद से बीजेपी मोदी लहर पर सवार है। आम चुनाव के बाद से 18 राज्यों में चुनाव हो चुके हैं, जिनमें से 11 में बीजेपी जीती है। वहीं, कांग्रेस को सिर्फ दो राज्यों (पंजाब और एक केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी) में सरकार बनाने में कामयाबी मिली। गुजरात, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, अरुणाचल प्रदेश, असम, छत्तीसगढ़, गोवा, हरियाणा, झारखंड, मध्य प्रदेश, मणिपुर, महाराष्ट्र, राजस्थान, बिहार, आंध्र प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, सिक्किम और नागालैंड में बीजेपी की सरकार है। इनमें से 14 राज्यों में बीजेपी के पास पूर्ण बहुमत है जबकि अन्य पांच राज्यों में वह गठबंधन के सहारे सत्ता में है।
पीएम मोदी ने लोक सभा चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस मुक्त भारतं का नारा दिया था। जिसके बाद से भारतीय जनता पार्टी इसी एजेंडे के साथ लगातार राज्यों में पांव पसार रही है। दक्षिण भारत हो या पूर्वोत्तर का राज्य हर जगह बीजेपी ने अपने जनाधार मजबूत किये हैं। 2014 लोकसभा चुनाव तक जहां बीजेपी की पूर्वोत्तर के एक भी राज्यों में सरकार नहीं थी आज वह अरुणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, सिक्किम और नागालैंड में सरकार बना चुकी है।
बीजेपी का अगला मिशन मिजोरम और मेघालय है। दोनों राज्यों का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 16 दिसंबर को दौरा किया था और उन्होंने राज्य को कांग्रेस मुक्त करने की बात की। मिजोरम और मेघालय में अगले साल की शुरुआत में चुनाव होंगे। हिमाचल और गुजरात चुनाव में भाजपा की यह जीत अगले वर्ष देश के कई राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों के साथ वर्ष 2019 में होने वाले लोकसभा चुनावों की स्क्रिप्ट तैयार करने में अहम भूमिका होगी। इन चुनावों ने मोदी-शाह की जोड़ी के भारत विजय के सफर को बल देने के साथ ही भाजपा के कांग्रेस मुक्त भारत के नारे को सच के करीब ले जाने का काम किया है।

प्रमेन्द्र शर्मा
स्वतंत्र पत्रकार
चैबे भवन ,नाहर गढ़ रोड
जयपुर राजस्थान

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Translate »
Skip to toolbar