ब्रेकिंग न्यूज़

चारा घोटाला: लालू, जगदीश शर्मा, राणा समेत 16 की सजा पर बहस पूरी, सजा का ऐलान आज

नई दिल्ली। चारा घोटाले में दोषी पाए गए राजद प्रमुख लालू यादव के खिलाफ सजा पर सुनवाई पूरी होने के बाद अब सजा का ऐलान शनिवार को हो सकता है। घोटाले के एक मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और पूर्व सांसद डॉ.आरके राणा सहित पांच दोषियों के खिलाफ सजा के बिंदु पर सुनवाई शुक्रवार को पूरी हो गई। इसके पहले दोषी करार पांच अन्य की सुनवाई गुरुवार को पूरी हो चुकी है। अब बचे छह दोषियों की सजा के बिंदु पर सुनवाई शनिवार को होगी। इसके बाद अदालत इन्हें सजा सुनाएगी। सभी अभियुक्त बिरसा मुंडा केंद्रीय जेल में बंद हैं। दोषी करार जिन अभियुक्तों की ओर से शुक्रवार को सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह की अदालत में सुनवाई हुई, उनमें लालू प्रसाद और राणा के अलावा फूलचंद सिंह, राजा राम जोशी व महेश प्रसाद शामिल हैं। कार्यवाही वीडियो कांफ्रेंसिंग ई-कोर्ट रूम से संचालित हुई। सुनवाई के दौरान महेश प्रसाद को छोड़ अन्य अभियुक्तों को बिरसा मुंडा केंद्रीय जेल से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पेश किया गया। पेशी के दौरान लालू खामोश थे। कार्यवाही को गंभीरता से सुनने की कोशिश कर रहे थे। चेहरे का भाव सामान्य था। अभियुक्तों की ओर से उनके अधिवक्ता ने बहस की। स्वास्थ्य सहित अन्य व्यक्तिगत समस्या, ज्यादा उम्र, करीब 20 वर्षों से मुकदमा लड़ने को लेकर कम से कम सजा की अपील न्यायालय से की। वहीं सीबीआइ की ओर से वरीय विशेष लोक अभियोजक राकेश प्रसाद ने अधिक सजा की दलील दी। उन्होंने अपराध की प्रवृत्ति को देखते हुए कानून के प्रावधान के आधार पर अधिक से अधिक सजा देने की अपील न्यायालय से की। उल्लेखनीय है कि चारा घोटाले में 16 अभियुक्तों को अदालत ने 23 दिसंबर, 2016 को दोषी करार दिया था। इसके बाद सभी को न्यायिक हिरासत में बिरसा मुंडा केंद्रीय जेल भेजा गया था। अदालत तीन जनवरी से सजा के बिंदु पर सुनवाई कर रही है। अभियुक्तों के नाम को अल्फाबेटिकल बांटकर सुनवाई हो रही है। यह मामला देवघर कोषागार से 89.04 लाख रुपये अवैध निकासी से संबंधित है।

कोर्ट के बुलावे पर भागे-दौड़े आऊंगा : रघुवंश-

राजद के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा है कि जब वे बिना बुलाए कोर्ट का चक्कर लगा रहे हैं तो फिर कोर्ट के बुलावे पर वे भागे-दौड़े आएंगे। कोर्ट की अवमानना के मामले में उन्हें 23 जनवरी को हाजिर होने को कहा गया है, वे जरूर आएंगे। यह पूछने पर कि कोर्ट ने तेजस्वी यादव को बुलाया है, क्या वे भी आएंगे। इसपर उन्होंने दो टूक कहा, हम आएंगे, देश-दुनिया का हाल नहीं जानते। चारा घोटाला मामले में लालू प्रसाद को सजा सुनाए जाने की संभावनाओं के मद्देनजर रांची में जमे रघुवंश प्रसाद शुक्रवार को सीबीआइ कोर्ट परिसर में मीडिया से मुखातिब थे। अपने समर्थकों के साथ दो बजे कोर्ट पहुंचे रघुवंश तकरीबन दो घंटे तक कोर्ट की परिक्रमा करने के बाद शुक्रवार की शाम पटना लौट गए। रघुवंश ने एक बार फिर दावा किया कि उन्होंने कोर्ट की अवहेलना नहीं की है। उन्होंने कहा कि फैसले पर बाद-विवाद संवैधानिक अधिकार है। अगर हम निचली अदालत के फैसले को ऊपरी अदालत में चुनौती देते हैं तो कोर्ट को बताना पड़ता है कि फैसले में कहां त्रुटि रह गई, जज का ध्यान किस बिंदु पर नहीं गया। निचली अदालतों के फैसले कई बार ऊपरी अदालतों में खारिज होते रहे हैं। अगर मैं न्यायालय पर भरोसा नहीं करता, न्यायपालिका पर टिप्पणी करता, तब अवहेलना वाली बात होती।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Translate »
Skip to toolbar