ब्रेकिंग न्यूज़

मैंने जिंदगी में बहुत सारे उतार चढ़ाव देखें हैं : करण कुंद्रा

विक्रम भट्ट की हॉरर फ़िल्म 1921 यह काफी डरावनारी फ़िल्म है जो 2008 में बनी 1920 का चौथा पार्ट है जिस मे जरीन खान और करण कुंद्रा मुख्य भूमिका में नजर आएंगे।

> विक्रम भट्ट की फिल्म का हिस्सा बनना कैसा रहा ?
इसकी नींव बहुत पहले विक्रम सर ने रख दी थी. मैंनेसर के साथ हॉरर स्टोरी फिल्म की थी. उस समय सर नेकहा की ये लांच नहीं है लेकिन अच्छी फिल्म है. फिल्मके बाद मैंने टीवी के शो गुमराह, रोडीज में काम किया.विक्रम सर को मेरे काम के बारे में पता था.

> और 1921 कैसे मिली ?
फिर उनका एक दिन कॉल आया और वो मुझे एक वेबसीरीज के लिए कास्ट करना चाहते थे. फिर 4 साल केबाद मैं एक दिन विक्रम सर से मिलने गया . उन्होंने मुझेस्क्रिप्ट सुनाई, तो मुझे लगा की वो वेब सीरीज होगी.लेकिन वो तो पूरी बड़ी फिल्म थी. और उन्होंने जरीनखान से पहले ही बात कर ली थी. और उस समय मुझेपता चला की इतने बड़े लोगों के साथ फिल्म करने कोमिल रहा है.

> शूटिंग के बारे में बताइये ?
हमने यॉर्कशायर में ही पूरी फिल्म शूट की है, जहां कईऐसी घटनाएं घटी, जिसकी वजह से डर भी लगता था,फोटो में अलग लाग चेहरे भी आ जाते थे.

> मुबारकां कैसे मिली ?
मैं रोडीज और टीवी के शो कर रहा था, उस समयअनीस भाई (अनीस बज्मी) का कॉल आया , और बड़ाही तगड़ा रोल था, वो पंजाबी लड़के की कहानी थी ,और उस समय मैंने अनीस भाई को हाँ कहा, औरमुबारकां में अर्जुन बन गया. उसके पूरा होने के 20 -25दिन बाद 1921 शुरू हो गयी.

> डर लगता है किसी चीज से ?
दुखी होने से डर लगता है. मैंने जिंदगी में बहुत सारेउतार चढ़ाव देखें हैं. मेरे पिताजी ने 200 रुपये सेशुरुआत की थी, घर में मैं सबसे छोटा था , हमारी 750 फैक्ट्री भी बंद हो गयी थी. तो मैंने वो दौर भी देखा है.इसलिए ख़ुशी बहुत जरूरी है. रीयल इंसान आपके इर्दगिर्द होना बहुत जरूरी है.

> शूट एन्जॉय करते हैं ?
फिल्में या टीवी के शो करता हूँ, पैक के बाद तुरंत घरऔर फॅमिली के पास चला जाता हूँ.

> डैड की कोई बात याद आती है ?
जी वो हमेशा कहते थे की तू कुछ भी करेगा, पर भूखानहीं मरेगा. काम और फॅमिली के साथ आगे बढ़ता जारहा हूँ.

> जरीन के साथ काम करना कैसा रहा ?
बहुत ही अच्छा अनुभव था और काफी बातें सीखने कोमिली.

-दिनेश जाला

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Translate »
Skip to toolbar