ब्रेकिंग न्यूज़

नाबालिग लड़कियों की खरीद-फरोख्त करने वाले गिरोह के दो आरोपी गिरफ्तार

फरीदाबाद। अपराध शाखा सेक्टर-30 व महिला थाना पुलिस ने नाबालिग लडकियों की खरीद-फरोख्त करने वाले गिरोह का भंडाफोडा कर दो आरोपियों को दबोचकर तीन लड़कियों को बरामद किया है। पकड़े गए आरोपियों की पहचान सुरेंद्र मालतो निवासी झारखंड, अरुण निवासी झारखंड को दबोचा लिया, जबकि दो आरोपी मणि मिश्रा निवासी सेक्टर-31 व एनिमा मिश्रा निवासी सेक्टर-31 की गिरफ्तारी के प्रयास जारी है। शिकायतकर्ता के मुताबिक़ पीडि़त नाबालिक लडक़ी को उसकी नानी ने करीब 2 साल पहले 4000/- रूपये में सुरेन्द्र नामक व्यक्ति को बेच दिया था आरोपी सुरेंदर पीडि़त लडक़ी को लेकर धीरज नगर फरीदाबाद में अपने ऑफिस ले आया और उसके साथ गलत काम किया फिर आरोपी सुरेंदर ने पीडिता लडक़ी को दिल्ली में किसी के घर घरेलू काम काज के लिए छोड़ दिया था।

नाबालिग लड़कियों की खरीद-फरोख्त करने वाले गिरोह के दो आरोपी गिरफ्तार

अब करीब 15 दिन पहले मणि मिश्रा जोकि सुरेंदर का दोस्त है पीडिता लडक़ी को वापिस धीरज नगर फरीदाबाद में ले आया और उसके साथ कई बार डरा धमका कर गलत काम किया और पीडिता लडक़ी को दिल्ली में घरेलू काम के बदले में मिली हुई पगार 30000/- रूपये को पीडिता लडक़ी से लोहे की राड व् चाक़ू से मारपीट कर छीन लिए थे , जिस पर उपरोक्त मुकदमा दर्ज करके  पीडिता लडक़ी को मारपीट व् चोट लगने की वजह से सरकारी हॉस्पिटल बीके फरीदाबाद में दाखिल कर मेडीकल करवाया गया। पीडि़त लडक़ी अभी भी बीके हॉस्पिटल में दाखिल है। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस आयुक्त मोहदय ने वारदात में शामिल आरोपियों की धर पकड़ के लिए क्राइम ब्रांच सैक्टर 30 को दिशा निर्देश दिए थे जिस पर कार्वयाही करते हुए क्राइम ब्रांच सैक्टर 30  प्रभारी इंस्पेक्टर संदीप मोर ने उपरोक्त आरोपियों को पकडऩे के लिए अपनी टीम तैयार करके मुखबर व् तकनिकी पहलुओ की मदद से 2 फरवरी, 2018 को शाम के समय आरोपी सुरेंदर को सूरजकुंड थाना के एरिया से पकड़ कर एसीपी सीएडब्ल्यू श्रीमती पूजा डाबला की टीम के हवाले किया गया है । सब इंस्पेक्टर राजरानी महिला थाना फरीदाबाद के द्वारा आरोपी से गहन पूछताछ की गई पूछताछ के दोरान आरोपी सुरेंदर ने बताया की वह अपने व् आस पास के गाँव झारखंड से लडकिया खरीद कर मणि मिश्रा व् उसकी घर वाली को 15-20 हजार में बेच देता था। आरोपी सुरेंदर ने बतलाया की मणि मिश्रा और उसकी पत्नी मेरे द्वारा लाइ गई लडकियों को आगे घरेलू कार्य करने के लिए फरीदाबाद व एनसीआर एरिया के घरो में सप्लाई करता था। आरोपी सुरेंदर ने बतलाया की लडकियों की देख रेख के लिए अरुण नाम के लडक़े को रखा हुआ था।  आज दोनों आरोपियों को माननीय अदालत से पुलिस रिमांड पर लिया जायेगा और अन्य दो आरोपियों के ठिकानों व् इन सब के द्वारा बेचीं गई लडकियों का पता लगाया जायेगा। आरोपीगण नाबालिक लडकियों को झारखंड इत्यादि से खरीद कर लाते है व् उनको दिल्ली फरीदाबाद एनसीआर के एरिया में अपने द्वारा खोली गई फर्जी प्लेसमेंट के जरिये घरेलू काम काज के लिए लगा देते है तथा उन लड़कियों को मिलने वाली पगार को अपने खुद के खातों में डलवाते है काम करने वाली लड़कियों को बख्शीश में मिलने वाली छोटी मोटी रकम ,कपड़ो इत्यादि को भी उनसे डरा धमकाकर छीन लेते है जब तक लडक़ी को कही काम पर नही भेज दिया जाता उसको अपने पास ही किराया के कमरे धीरज नगर फरीदाबाद रखते थे इस वारदात को अंजाम देने में मणि मिश्रा ,सुरेंदर,मणि मिश्रा की पत्नि व अरुण नाम का व्यक्ति है।

 

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Translate »
Skip to toolbar