ब्रेकिंग न्यूज़

शेखर सुमन और स्वाति शाह सोनी सब के नये शो ‘सात फेरों की हेराफेरी’ के साथ टीवी पर कर रहे हैं वापसी

सोनी सब अपने पिछले शो से मिली अपार सफलता के बाद, हास्य से भरपूर एक और शो लेकर आया है!

प्रस्तुत है दो शादीशुदा जोड़ों पर आधारित एक बेहद ही मजाकिया शो, ‘सात फेरों की हेराफेरी’। यह शो उनका सफरनामा है कि एक खुशहाल शादीशुदा जिंदगी आखिर कैसी होती है। इस शो में टेलीविजन के मेगास्टार शेखर सुमन मुख्य भूमिका में आ रहे हैं और उनकी पत्नी की भूमिका निभा रही हैं जानी-मानी अभिनेत्री स्वाति शाह।

दिग्गज अभिनेता शेखर सुमन पचास साल के भूपि टंडन की भूमिका निभा रहे हैं। उसके विचार एक दकियानूसी भारतीय पुरुष की तरह हैं। उसकी सोच बहुत ही उग्र तरह की है, उसका मानना है कि पुरुष ही घर का मालिक होता है और उसे अपनी पत्नियों को काबू में रखना चाहिये। इस सोच के बावजूद वह दिल का अच्छा है और अपने परिवार की चिंता करता है लेकिन अपना प्यार जता नहीं पाता। ट्रैवल एजेंट का काम करने वाला भूपि दिल से एक गायक है। वह बड़े ही भड़कीले किस्म का पंजाबी है, वह पैसे खर्च करने से ज्यादा बचाने पर यकीन करता है।

वहीं दूसरी तरफ उनकी पत्नी नीतू टंडन की भूमिका निभा रही हैं, बेहतरीन अदाकारा स्वाति शाह एक प्यारी पत्नी और मां है। उसका मानना है कि ‘पति के चरणों में पत्नी का स्वर्ग होता है’। वह एक अच्छी कुक है और उसे खाना पकाना और पड़ोसियों को खिलाना पसंद है। वह पूरे हफ्ते बड़े ही अजीब तरह के व्रत रखती है। उसकी सोच अस्सी के दशक की गृहिणियों की तरह है, जिसका मानना है कि पति ही उसका परमेश्वर है।

अपनी इस नई शुरुआत के बारे में बताते हुए शेखर कहते हैं, ‘‘मैं काफी लंबे समय बाद काॅमेडी जोनर में लौट रहा हूं। वैसे, मैं खुद को खुशकिस्मत मानता हूं कि मुझे इतनी अच्छी टीम और सोनी सब के साथ काम करने का मौका मिल रहा है! मुझे उम्मीद है कि भूपि टंडन के माध्यम से मैं पूरे देश के दर्शकों का सपोर्ट और प्यार हासिल कर पाऊंगा।’’
अपनी भूमिका के बारे में बताते हुए स्वाति शाह कहती हैं, ‘‘नीतू का किरदार निभाना बहुत ही बेहतरीन अनुभव है। वह रीति-रिवाजों को मानने वाली महिला है, लेकिन उसकी मासूमियत ऐसी है कि सभी महिलाएं खुद को उससे जोड़ पायेंगी। यह मेरे लिये सम्मान की बात है कि मुझे शो में शेखरजी के साथ काम करने का मौका मिल रहा है।’’
‘सात फेरों की हेराफेरी’ के बारे में और अधिक जानने के लिये देखते रहित सोनी सब !

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Translate »
Skip to toolbar