ब्रेकिंग न्यूज़

हिमाचल में बढता जाली नोटों कारोबार, कौन दोषी कौन जिम्मेवार ?

विश्व में देवभूमि के नाम से विख्यात हिमाचल में जाली नोटों के कारोबार के मामले प्रकाश में आ रहे है एक बहुत ही अशुभ संकेत है। ताजा मामले में मण्डी में जाली नोटों का कारोबार करने वाले तीन लोगों को पुलिस ने नकली नोटों के साथ गिरफतार कर लिया है।पुलिस ने नोटों के साथ-साथ स्कैनर व प्रिंटर भी बरामद कर लिया है। हिमाचल में नकली नोटों की बरामदगी बहुत ही चिन्ताजनक है बडे पैमाने पर जाली नोट पकडे जा रहे है ।बेशक पुलिस ने अपनी सक्रियता से नकली नोटो का गोरखधंधा करने वालों पर शिकंजा कसा है।प्रदेश पुलिस को जाली नोटों का घिनौना कारोबार करने वाले सूत्रधारों को बेनकाब करना होगा यह बहुत ही जरुरी है क्योकि यदि समय पर इस काले धंधे पर लगाम न कसी तो यह कारोबार निर्बाध रूप से पूरे प्रदेश मे फैलता जाएगा। इस गिरोह को नेस्तनाबूद करना होगा जो यह अवैध ध्ंाधा चला रहर है।समझ नहीं आता कि लोग बिना मेहनत के अमीर बनना चाहते है और ऐसे धंधो को अंजाम देते है।नकली नोटों के कारोबार का यह मामला बहुत ही संगीन अपराध है। यह महज दुर्योग ही कहा जा सकता है कि इन काले करनामों को अंजाम देने वाले युवक हिमाचली है। हिमाचली युवकों की इन गलत कार्यों में सलिप्तता बहुत ही दुखद है। इसके पीछे कोई माफिया गिरोह काम कर रहा है। ऐसे गिरोह को बेनकाब करना होगा तथा सूत्रधारों को जेल के सीखचों में डालना होगा। प्रदेश में निरंतर हो रही घटनाओं से यही साबित हो रहा है कि युवा रातो-रात अमीर बनने के चक्कर में ऐसे कार्य कर रहे है और अपना भविष्य दांव पर लगा रहे है।जाली नोटों के इस गिरोह का पर्दाफाश करना होगा नही ंतो बाजारों मे अफरा-तफरी मच जाएगी जब हर तरफ जाली नोटों का साम्राज्य हो जाएगा।प्रदेश में यह कोई पहला मामला नहीं है गत वर्षो में ऐसे मामले प्रकाश में आ चुके है मगर यह कारोबार थमने का नाम नहीं ले रहा है। युवा जाली नोटों के धंधे में आकर अपना भविष्य बर्बाद कर रहे है। अपने महगें शौक को पूरा करने के लिए यह लोग इतने पागल हो गये है कि जाली नोटों का कारोबार करने पर मजबूर हो गये हैं चंद पैसों के लालच के कारण यह लोग ऐसी दलदल में फंसते जा रहे है और पूरा जीवन ही तबाह कर रहे हैं। प्रदेश के युवाओं का गैर कानूनी काम की ओर झुकाव अच्छा संकेत नहीं है।यह देवभूमि के लिए एक शर्मनाक ही नहीं एक ऐसा कलंक है कि हर हिमाचली का सिर झुक गया है ऐसे काले कारनामों की कल्पना हिमाचल में नहीं की जा सकती थी मगर इस सच्चाई को झुठलाया नहीं जा सकता। पुलिस को इस कारोबार के सरगना को पकडना चाहिए ताकि नकली नोटों का यह कारोबार पूर्ण रुप से बंद हो सके। पुलिस को चाहिए कि संदिग्ध लोगों पर शिंकजा कसा जाए और इस धंधें को करने वालों को आजीवन कारावास दिया जाए। जाली नोटो की इस विष बेल को जड से उखडना होगा ।बैंक के कर्मचारियों व अधिकारीयों को समय-समय पर ग्राहकों को जागरुक करते रहना चाहिए ताकि धोखधडी से बचा जा सके। राज्य में प्रतिदिन करोडों का लेनदेन होता है। बैंको में नकली नोटों की पहचान के लिए मशीनें व यन्त्र स्थापित करने चाहिए ताकि गरीब लोग ठगने से बच सके। एटीएम से भी कई बार लकली नोट निकलने के समाचार मिलते रहतें है बैक के कर्मचारियों को भी सर्तकता बरतनी चाहिए ताकि एक विश्वास बना रहे ,पहले गिने चुने नकली नोट ही मिलते थे मगर अब बाढ सी आ गई है। इस समस्या का तत्काल निवारण करना होगा। यदि अब भी सबक न सीखा तो आने वाले समय में अराजकता फैल जाएगी।नकली नोटो का मकडजाल प्रदेश के प्रत्येक जिले में फैलता जा रहा है। नकली नोटों के इस प्रवाह को रोकना होगा ।ताकि ग्राहको को नकली नोटों से निजात मिल सके।यह जनहित मे बेहद जरुरी है। नकली मुद्रा के इस प्रचलन को रोकना प्रत्येक हिमाचली का कर्तव्य बनता है इसे सामूहिक रुप से प्रदेश से खत्म करना होगा।ऐसे काला ध्ंाधा करने वाले लोगों पर भी नजर रखनी होगी जो हिमाचल में इस कारोबार को फैला रहे हैं। तभी इस अवैध काले कारोबार को रोका जा सकता है । अगर अब भी लापरवाही बरती तो आने वाले समय में इस कारोंबार की जड़े काटना मुश्किल हो जाएगा। अगर इस धंधे को समय रहते नहीं रोका तो आने वाले दिनों में यह धंधा इतना पनप जाएगा तब तक बहुत देर हो जाएगी। हैं।सरकार को व पुलिस को इस बाबत देर नहीं करनी चाहिए यदि अब भी लापरवाही बरती तो आने वाले दिनों में ऐसे अवैध कार्यो को रोकना मुशिकल हो जाएगा।सरकार को इन घटनाओं को अनदेखा नहीं करना चाहिए।प्रशासन को भी इन मामलों पर संज्ञान लेना चाहिए वक्त अभी संभलने का है।

नरेन्द्र भारती, वरिष्ठ पत्रकार-09459047744

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Translate »
Skip to toolbar