ब्रेकिंग न्यूज़

मित्र मंडल ने धूमधाम से मनाया गणगौर उत्सव

फरीदाबाद। मित्र मंडल सैक्टर-3 फऱीदाबाद के राजस्थानी परिवार ने बड़े ही हर्षोल्लास से गणगौर उत्सव मनाया। इस त्यौहार पर बताया जाता है कि होलिका दहन के दूसर दिने से 18 दिन तक ईसर (शिव) और गौर (पार्वती) भगवान शिव पार्वती की पूजा की जाती हैं। कुंवारी लड़कियां पूजा करते हुऐ दूध और पानी के छींटे देते हुये गौर गौर गोमती गीत गाती हैं और मनपसंद वर पाने के लिये भगवान से प्रार्थना करती हैं, राजस्थान में ये पर्व आस्था प्रेम और सौहार्द का सबसे बड़ा पर्व होता है। विवाहित महिलाये भी अपने पति कि लम्बी आयु पाने के लिये पूजा अर्चना करती हैं। राजस्थानी परिवार ने फऱीदाबाद सैक्टर-3 में गणगौर उत्सव की भव्य शोभायात्रा निकाली पूरे मार्केट में नाचते गाते हुये बच्चो बुजुर्गो और महिलाओं ने शानदार प्रस्तुति पेश की मार्केट के सभी लोगों ने इस पर्व की ख़ूब प्रशंसा की। संस्था के प्रधान बिमल सुरजगडिय़ा ने बताया कि इसकी नींव 36 साल पहले रखी थी जिससे समाज कि इस संस्कृति को जीवित रखा जा सके और आने वाली पीढ़ी भी इस संस्कृति को संजोए रखे। इस मौके पर मौजूद सुशील बाहेती, सन्तलाल भाटी, पवन सुरजगडिय़ा, श्रवण रिनवां, मधुसूदन माटोलिया, सत्य प्रकाश रिणवा, गोपाल भदानी,  विमल खण्डेलवाल, योगेश तिवाड़ी, राजु शर्मा, कैलाश जोशी, रविन्द्र खंडेलवाल, अमित शर्मा और महिलाओं व बच्चो ने मिलकर कार्यक्रम को सफल बनाने में अपना पूरा योगदान दिया। इसी बीच बिमला तिवाड़ी, संतोष बाहेती, किरण शर्मा,  उर्मिला खण्डेलवाल आदि महिलाओ ने गणगौर के गीत म्हारी गौरा तीसाइं रो राज गौर गौर गोमती मैया खोल किवाड़ी बाहर खड़ी तेरी पूजन हाली जैसे गीतों की शानदार प्रस्तुति दी

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Translate »
Skip to toolbar