ब्रेकिंग न्यूज़

गर्मियों की छुट्टियों में त्वचा का रखें खास ख्याल

गर्मियों की छुटियाँ होने से पहले ही हम ठन्डे पहाड़ों या समुंद्री किनारों की ओर रूख करने का मन बना लेते हैं। मैदानी इलाकों में भीषण गर्मी,  लू, बिजली, पानी  के संकट से छुटकारा पाने तथा रोजाना की उबाऊ जीवन चर्या से मुक्ति पाने के लिए बच्चों के मनपसन्द पर्यटक स्थल पर   शान्त , सुरम्य ,ठन्डे और प्रकृति बाताबरण में कुछ दिन आराम के पल जीने की चाह में परिवार तथा दोस्तों के साथ निकल पड़ते हैं

मौसम के हिसाब से कपड़ों की पैकिंग , अच्छे रेस्टोरेन्ट में  फैमिली  डिनर ,लोकल घूमना फिरना ,स्नैक तथा ड्राई फ्रूट के अलाबा दवाईयाँ आदि  पैक कर लेते है ताकि छुटियों को  बिना किसी टेंशन के अच्छे से एन्जॉय कर सके / लेकिन हम अक्सर अपनी त्वचा ,बालों ,होंठों आदि पर  मौसम के बदलाब की बजह से होने बाले नुकसान को हमेशा नजरअंदाज कर देते हैं जिसकी बजह से जब हम बापिस घर पहुंचते हैं तो ब्यूटी पार्लर की अपॉइंटमेंट सबसे अहम बन जाती है ताकि दुबारा अपनी रंगत में बापिस सकेँ   फैमिली के साथ मस्ती भरे पल और सकून भरे वीकेंड मनाने  की एक्ससिटेमेंट में हम  बदले प्राकृतिक बाताबरण के   त्वचा, बालों, चेहरे पर पड़ने बाले दुष्प्रभाव  को ज्यादातर नजरअंदाज कर देते हैं जिसकी बजह से घर बापसी के बक्त हमारी रंगत बिगड़ जाती है तथा हमें आते ही ब्यूटी पार्लर की और रुख करना पड़ता  है जोकि एक तो  जेब पर भारी पड़ता है तथा समय की बर्बादी का कारण भी बनता है  . लेकिन अगर आप  अपने सौन्दर्य  के लिए  थोड़े से सेन्सिटिव रहें तथा हर्बल टिप्स का अनुसरण करें तो आपको सौन्दर्य  की परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा तथा आपका सुन्दरता बरकरार रहेगी 

 अब जबकि गर्मियों में छुट्टियों का सीजन नजदीक पहुंच गयाहै तथा आप पहाड़ों तथा समु्रदी तटों पर कुछ आरामदायक स्कून से भरे पल गुजारने का कार्यक्रम बना रहे है तो इस बात का भी ध्यान रखिए कि सौंदर्य के लिहाज से गर्मियों हमारी त्वचा को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाती है तथा समुद्री तटों तथा पहाडों की बर्फ के पारदर्शी सतहों पर सूर्य की किरणें मैदानी ईलाकों की बजाय ज्यादा तेज होती है जिससे आपकी त्वचा में जलन, कालापन, सनबर्न तथा मुहांसों आदि जैसी सौदर्य समस्याऐं उग्र रूप धारण कर सकती है।

सौंदर्य विशेषज्ञ शहनाज हुसैन का कहना है कि रेतीले समुद्री तटों तथा बर्फीले क्षेत्रों में गर्मियों के मौसम में सूर्य की तेज किरणों की वजह से साफ सुथरी त्वचा को कील मुंहासों की समस्या से रूबरू होना पड़ सकता है। उनका कहना है कि छुट्टियों पर जाने से पहले ही सूर्य की तेज किरणों से हानिकारक यू.वी. किरणों से त्वचा को होने वाले नुकसान के प्रभावी रोकथाम के उपाय करने चाहिए ताकि सौंदर्य के हिसाब से छुट्टियां दुखद अनुभव की यादगार न बन जाए।

सौंदर्य विशेषज्ञ शहनाज हुसैन का कहना है कि आप कुछ सौंदर्य सावधनियां बरत कर अपनी छुट्टियों का भरपूर आनन्द उठा सकती है। गर्मियों में छुट्टियों की तैयारियों सौदर्य सावधानियों से ही शुरू कीजिए। त्वचा की प्रतिरक्षा के लिए सनस्क्रीन लोशन अपने साथ जरूर ले ले। आप त्वचा की कालिख तथा सूर्य की किरणें में बचाव का प्रभावी सनस्क्रीन लोशन ले। जब भी आप बाहर धूप में जा रहे हो तो जाने से 20 मिनट पहले चेहरें तथा शरीर के सभी खुले अंगों पर सनस्क्रीन का लेप जरूर कर लें। यदि आप धूप में एक घंटा या ज्यादा समय तक रहे तो सनस्क्रीन का दुबारा लेप कर ले। संवेदनशील तथा सनबर्न से प्रभावित त्वचा में  30 या ज्यादा एस.पी.एफ. सनस्क्रीन का उपयोग करें। गर्मियों में छुट्टियों के दौरासन अपने सौंदर्य को बनाए रखने के लिए माइस्चराईजर, रिहाईडरेंट क्लींजर हैड क्रीम तथा होठों का वाम साथ रखना कतई न भूले। गर्मियों की छुट्टियों के दौरान तैलीय त्वचा को चमकाने तथा छिद्रों को साफ करने के लिए स्क्रब का अधिकतम उपयोग कीजिए। सौंदर्य विशेषज्ञ शहनाज हुसैन का कहना है समुद्री तट पर खाारे पानी में नहाने के बाद चेहरे को ताजे साफ पानी से धोंऐ। जब भी आप वापिस अपने होटल के कमरे में पहंुचे तो चेहरे पर ठण्डें दूध की मालिश करके इसे कुछ समय तक छोड़ दें। इससे सनबर्न के प्रभाव को रोकने में मदद मिलेगी तथा चेहरे की त्वचा को ठंडक मिलेगी।

इसके बाद चेहरे पर माइस्चराईजर लगाऐ। चेेहरे की त्वचा के पोषण तथा पनुयौवन के लिए ‘‘पील आफ मास्क’’ उपयोगी साबित  होगा। शहद को अण्डे के सफेद भाग में मिलाकर इस पेस्ट को चेहरे पर 20 मिनट तक लगा रहने के बाद इसे ताजे स्वच्छ जल से धो डालिए।  इस मिश्रण से त्वचा कोमल, मुलायम तथा चमकदार बनती है।

सौंदर्य विशेषज्ञ शहनाज हुसैन का कहनपा है कि समुद्री पानी से नहाने से आपके बाल निर्जिव तथा  उलझ सकते है। समुद्री पानी में नहाते समय सिर को कैप से ढकने से बालों को सूर्य की गर्मी तथा खारे पानी के नुकसान से प्रभावी तरीके से बचाया जा सकता है। समुद्र में नहाने से पहले अपने बालों को सामान्य ताजे पानी से अच्छी तरह धोइए। बालों के छिद्र खुले होते है तथा बालों को धोने के बाद समुद्र में नहाने से बालों को नुकसान नहीं होगा क्योंकि बाल समुद्री पानी को कतई नहीं सोखेगे क्योंकि वह पहले ही ताजे पानी को सोख चुके है। समुद्री पानी में नहाने के बाद बालों को हल्के हर्बल शैम्पू से धो डालिए तथा शैम्पू के बाद बालों में कंडीशनर या हेयर सीरम का उपयोग कीजिए।

समुद्री तट पर जाने से पहले सौंदर्य प्रसाधनों का कम से कम इस्तेमाल करें जबकि आप सफर के दौरान लिपगलोस, पाऊडर, आई-पेंसिल, मास्करा, लिपस्टिक जैसे सामान्य सौदर्य प्रसाधनों का उपयोग कर सकती है। यदि आपकी तैलीय त्वचा है तथा आप गर्मियों में आर्द्रता भरे मौसम में सफर कर रहे है तो टिशू पेपर, टैलकम पाऊडर तथा डीओडरेंट अपने साथ जरूर रखे।  सफर के दौरान सौदर्य के कुछ टिप्स आपके सफर के दौरान सौंदर्य में चार चांद लगा सकते है। यदि आप बाहर पर्यटक स्थलों पर घूम रहे है तो दिन में कम से कम दो बार अपना चेहरा ताजे पानी से जरूर धोइए। ‘‘पिक मी अप’’  फेस मास्क आपकी त्वचा को साफ, चमकदार तथा आकर्षक बना सकता है। इससे त्वचा की थकान को मिटाने तथा त्वचा को तरोताजा बनाए रखने में मदद मिलती है। सफर के दौरान ‘‘पील आफ मास्क’’ के प्रयोग से त्वचा में चमक बनाए रखने में मदद मिलती है। ऊंचे पर्वतीय दर्शनीय स्थलों, शुष्क तथा ठण्डे़ मौसम के दौरान बालों में नमी की कमी सामान्य रूप से पाई जाती है। इस मौसम में हाथ तथा होंठ भी शुष्क बन जाते है। इस मौसम में हाथों तथा शरीर के खुले अंगों में दिन में दो तीन बार माइस्चराईजर का प्रयोग करें तथा इसकी त्वचा पर मालिश करें। बालों के सौंदर्य के लिए सनस्क्रीन रहित हेयर क्रीम, हर्बल शैम्पू, कवर्ल हेयर सीरम तथा कंडीशनर का लगातार उपयोग करें। बालों को सूर्य की किरणों, हवा के झोंको तथा धूल मिट्टी से बचाने के लिए सकार्फ का उपयोग करें। तैलीय बालों के लिए गर्म पानी में टी बैग डुबोइए। टी बैग को हटाकर बाकी बचे पानी को ठण्डा होने दें तथा बाद में इसमें नीबूं जूस मिला दीजिए तथा उससे बालों को साफ कीजिए। इससे बालों को मुलायम तथा चमकदार बनाने में मदद मिलती है।

-शहनाज हुसैन

 

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Translate »
Skip to toolbar