ब्रेकिंग न्यूज़

महिंद्रा म्यूचुअल फंड ने लॉन्च की नई ‘महिंद्रा क्रेडिट रिस्क योजना‘

दिल्ली। महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड (एमएमएफएसएल) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी महिंद्रा म्युचुअल फंड ने निवेशकों के लिए नई नई ‘महिंद्रा क्रेडिट रिस्क योजना‘ लॉन्च की है। यह योजना ऐसे निवेशकों के लिए उपयुक्त हैं जो मध्यम से लंबी अवधि के लिए उचित आय और पूंजी वृद्धि की चाहत रखते हैं। ‘महिंद्रा क्रेडिट रिस्क योजना‘ एक ओपन एंडेड डेट योजना है जो मुख्य रूप से एए़़ रेटेड कॉरपोरेट बॉन्ड्स को छोड़कर एए और इससे नीचे वाले कॉर्पोरेट बॉन्ड्स में निवेश करती है। न्यू फंड ऑफर 27 जुलाई, 2018 को खुलेगा और 10 अगस्त, 2018 को बंद होगा। यह योजना आवंटन की तारीख से 5 कारोबारी दिनों के भीतर निरंतर बिक्री और पुनर्खरीद के लिए फिर से शुरू की जाएगी।
महिंद्रा म्युचुअल फंड के एमडी और सीईओ श्री आशुतोष विश्नोई ने कहा, ‘महिंद्रा क्रेडिट रिस्क योजना निवेशकों को देश की विकास यात्रा में भागीदारी करने का अवसर देती है। इस योजना के तहत बेहतर तरीके से विविधिकृत डेट पोर्टफोलियो वाली मजबूत, हाई लिक्विड और जानी-मानी कंपनियों निवेश किया जाएगा। हमारा मानना है कि यह योजना एक आकर्षक दीर्घकालिक निवेश का अवसर प्रदान करती है, इसलिए उचित आय और पूंजी वृद्धि की चाहत रखने वाले निवेशकों को इसमें अवश्य निवेश करना चाहिए।‘
महिंद्रा क्रेडिट रिस्क योजना का उद्देश्य मध्यम से उच्च सुरक्षा निवेश ग्रेड के क्वालिटी इंस्ट्रूमेंट्स में निवेश करना और कम से कम जोखिम पर कम अस्थिरता के साथ इच्छित रिटर्न हासिल करना है। रिस्क गार्ड प्रोसेस के आधार पर प्रतिभूतियों का चयन किया जाएगा, जो कि एक इन हाउस रिसर्च और प्रोसेस फ्रेमवर्क है।
मध्यम जोखिम को अपनाने वाले ऐसे निवेशक जो अपने पोर्टफोलियो को विविधता देने के इच्छुक हैं और पारंपरिक निवेश विकल्पों के स्थान पर ऐसे नए विकल्प तलाश रहे हैं जिनमें जोखिम कम हो और जो बेहतर रिटर्न दे सकें, वे महिंद्रा क्रेडिट रिस्क योजना से ऐसी उम्मीदें लगा सकते हैं। यह योजना उन निवेशकों के लिए भी उपयुक्त है जो सुरक्षा, तरलता और रिटर्न के बेहतर संतुलन की तलाश में हैं।
इस योजना के तहत मुख्य रूप से न्यूनतम 65 प्रतिशत निवेश एए़़ रेटेड कॉरपोरेट बॉन्ड्स को छोड़कर एए और इससे नीचे वाले कॉर्पोरेट बॉन्ड्स में किया जाएगा, जबकि 35 प्रतिशत तक का निवेश डेट और मनी मार्केट इंस्ट्रूमेंट्स में किया जाएगा (योजना की शुद्ध परिसंपत्तियों के 30 प्रतिशत तक सिक्यूरिटाइज्ड डेट शामिल है)। इसके अलावा, ब्याज दरों मंे कमी और सूचीबद्ध संस्थाओं के पर्याप्त डेट अनुपात में निवेश करने के प्रयास के साथ विविधता के मामले में पूंजी वृद्धि की व्यापक संभावना के साथ आरईआईटी और आईएनवीआईटी द्वारा जारी यूनिट्स में 10 प्रतिशत तक निवेश किया जाएगा। म्युचुअल फंड निवेश बाजार जोखिमों के अधीन हैं। योजना से जुडे सभी संबंधित दस्तावेजों को ध्यान से पढें।
महिंद्रा म्यूचुअल फंड के बारे में
कंपनी अधिनियम, 1956 के तहत निगमित एक कंपनी महिंद्रा एसेट मैनेजमेंट कंपनी प्राइवेट लिमिटेड, महिंद्रा म्यूचुअल फंड के लिए निवेश प्रबंधक है। यह महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड (एमएमएफएसएल) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है।
महिंद्रा म्यूचुअल फंड ग्रामीण और अर्ध-शहरी इलाकों में विशेष ध्यान देने के साथ, भारत में विभिन्न म्यूचुअल फंड योजनाओं की पेशकश करता है।
वैधानिक विवरणः महिंद्रा म्यूचुअल फंड को भारतीय ट्रस्ट अधिनियम, 1882 के तहत एक ट्रस्ट के रूप में गठित किया गया है। प्रायोजकः महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड (प्रायोजक की देनदारी सीमित 1,00,000/- तक) ट्रस्टीः महिन्द्रा ट्रस्टी कंपनी प्राइवेट लिमिटेड निवेश। प्रबंधकः महिंद्रा एसेट मैनेजमेंट कंपनी प्राइवेट लिमिटेड। प्रायोजक, ट्रस्टी और निवेश प्रबंधक कंपनी अधिनियम, 1956 के तहत शामिल किए गए हैं।
महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड के बारे में
महिंद्रा ग्रुप का एक हिस्सा महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड (महिंद्रा फाइनेंस) भारत की अग्रणी गैर-बैंकिंग वित्त कंपनियों में से एक है। ग्रामीण और अर्द्ध-शहरी क्षेत्र पर केंद्रित, महिंद्रा फाइनेंस के 5.3 मिलियन से अधिक ग्राहक हैं और 8.49 बिलियन यूएस डालर से अधिक का एयूएम है। महिंद्रा फाइनेंस एक अग्रणी वाहन और ट्रैक्टर फाइनेंसर है और एसएमई को फिक्सड डिपॉजिट और लोन भी प्रदान करती है। डॉव जोन्स सस्टेनेबिलिटी इंडेक्स का एक हिस्सा बनने वाली भारत की पहली गैर-बैंकिग वित्तीय कंपनी महिंद्रा फाइनेंस के पूरे देश में 1,284 कार्यालय हैं।
महिन्द्रा फाइनेंस अकेली भारतीय गैर बैकिंग वित्तीय कम्पनी है जो इमर्जिंग मार्केट कैटेगरी में डाउ जोन्स सस्टेनेबिलिटी इंडेक्स में चुनी गई। महिन्द्रा फाइनेंस को ग्रेट प्लेस टू वर्क संस्थान और इकोनोमिक टाइम्स ने मिल कर इंडियाज बेस्ट 50 कम्पनीज टू वर्क फॉर 2017 में 49वें स्थान पर रखा है। यह बताता है कि इसके कर्मचारी कम्पनी में विश्वास और गर्व करते हैं। द इकोनॉमिक टाइम्स के साथ ‘ग्रेट प्लेस टू वर्क इंस्टीट्यूट (जीपीटीडब्ल्यू) द्वारा महिंद्रा फाइनेंस को ‘इंडियाज बेस्ट कंपनी टु वर्क फॉर 2017’ की शीर्ष 50 कंपनियों में शामिल किया गया है।

महिंद्रा फाइनेंस की इंश्योरेंस ब्रोकिंग सब्सिडियरी महिन्द्रा इंश्योरेंस ब्रोकर्स लिमिटेड (एमआईबीएल) डायरेक्ट एंड रीइंश्योरेंस ब्रोकिंग सर्विसेज प्रदान करने वाली एक लाइसेंस प्राप्त कम्पोजिट ब्रोकर है।
कम्पनी की इंश्योरेंस ब्रोकिंग सब्सिडरी महिन्द्रा इंश्योरेंस ब्रोकर्स लिमिटेड (एमआईबीएल) एक लाइसेंस प्राप्त कम्पोजिट ब्रोकर है जो डायरेक्टर और रीइंश्योरेंस ब्रोकिंग सर्विस देता है। महिन्द्रा रूरल हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (एमआरएचएफएल) महिन्द्रा फाइनेंस की सब्सिडरी है और देश के ग्रामीण और अर्धशहरीक्षेत्रों में मकान खरीदने, बनाने, मरम्मत कराने आदि के लिए कर्ज देती है। महिन्द्रा एसेट मैनेजमेंट कम्पनी प्राइवेट लिमिटेड (एमएएमसीपीएल) महिन्द्रा फाइनेंस की सब्सिडरी है और महिन्द्रा म्यूचुअल फंड के इन्वेस्टमेंट मैनेजर के रूप में काम कर रही है। महिंद्रा फाइनेंस की एक सब्सिडियरी महिंद्रा रूरल हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (एमआरएचएफएल) देश के ग्रामीण और अर्द्ध-शहरी इलाकों में व्यक्तियों को घरों के निर्माण, खरीद, मरम्मत के लिए ऋण प्रदान करती है। कम्पनी का अमेरिका में एक संयुक्त उपक्रम महिन्द्रा फाइनेंस यूएसए एलएलसी है। यह डी लेग लेंडन के साथ साझेदारी में है जो राबो बैंक की सब्सिडरी है और अमेरिका में महिन्द्रा ट्रेक्टर्स के लिए फाइनेंस देती हैं।
महिंद्रा के बारे में
महिंद्रा ग्रुप 19 बिलियन अमेरिकी डॉलर की कंपनियों का फेडरेशन है जो लोगों को आवागमन के नए समाधान, ग्रामीण समृद्धि को बढ़ावा, शहरी जीवन के विस्तार, नए व्यवसायों का पोषण करने और समुदायों को बढ़ावा देने में सक्षम बनाता है। उपयोगी वाहनों, सूचना प्रौद्योगिकी, वित्तीय सेवाओं और वैकेशन के मामले में इसकी स्थिति एक नेतृत्वकारी की रही है और उत्पादों की संख्या के आधार पर यह दुनिया की सबसे बड़ी ट्रैक्टर कंपनी है। महिंद्रा, कृषि व्यवसाय, खाद, वाणिज्यिक वाहनों, परामर्श सेवाओं, ऊर्जा, औद्योगिक उपकरण, रसद, रियल एस्टेट, स्टील, एयरोस्पेस, डिफेंस और टू-व्हीलर में अपनी मजबूत उपस्थिति का भी आनंद उठाता है। भारत में मुख्यालय वाला महिंद्रा 100 देशों के 2,40,000 से अधिक लोगों को रोजगार देता है।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Translate »
Skip to toolbar