ब्रेकिंग न्यूज़

घरेलू नुस्खे से सौंदर्य उपचार

सुन्दर दिखने के लिए महिलाऐं मंहेगें सौंदर्य उपचारों पर ज्यादा भरोसा करती हैं। जबकि वास्तविकता यह है कि उन मंहगें सौंदर्य प्रसाध्नों की बजाय घर की रसोई में उपयोग किए जा रहे घरेलू पदार्थाे के उपयोग से बेहतर सौंदर्य प्राप्त किया जा सकता है। महिलायें अपनी रसोई में रखें पदार्थो को प्रतिदिन त्वचा, आंखों, हाथ, पैरों पफेसमास्क, वाडी स्क्रब तथा हेयर कंडीशनिंग के उपयोग में ला सकती हैै।
त्वचा की रोजाना खुराक के लिए एक चम्मच संतरे के जूस में शहद मिलाकर इस मिश्रण को चेहरे पर लगा कर 20 मिनट बाद चेहरे को ताजे स्वच्छ जल से धे डालिए तथा इससे त्वचा मुलायम तथा कोमल बन जाऐगी। शहद सभी प्रकार की त्वचा के लिए उपयोगी साबित होता है।
तैलीय तथा कील मुंहासों से प्रभावित त्वचा के लिए एक चम्मच शहद में एक चम्मच नीबूं रस तथा थोड़ी सी हल्दी मिलाकर उसका मिश्रण बना लीजिए तथा उस मिश्रण को त्वचा पर 20 मिनट लगाा रहने के बाद ताजा एवं सापफ जल से धे डालिए आंखों के सौंदर्य की प्रतिदिन देखभाल के लिए शु( बादाम तेल को आंखों से सटी त्वचा पर हल्का-हल्का गोलाकार रूप में लगाइए। प्रत्येक आंखों की त्वचा पर अनामिका अंगूली द्वारा एक मिनट तक हल्की-हल्की मालिश कीजिए तथा उसे 15 मिनट बाद गीले काटन वूल से साफ कर दीजिए। हाथों तथा पांवों के सौंदर्य की प्रतिदिन देखभाल के लिए तीन चम्मच गुलाब जल, दो चम्मच नीबंू जूस तथा एक चम्मच शहद का मिश्रण तैयार कर लीजिए। इस मिश्रण को हाथों तथा पांवों पर लगाकर आध घंटा बाद ताजे पानी से धो डालिए।
पफेस मास्क तैयार करने के लिए तीन चम्मच जैई को अण्डे के सपफेद भाग तथा एक चम्मच बादाम, दही तथा शहद में मिलाकर मिश्रण तैयार कर लीजिए। शुष्क त्वचा के लिए अण्डे के पीले भाग का उपयोग कीजिए। इस फेस पैक में आप पक्के पपीते या संतरे के जूस का भी उपयोग कर सकते है। इस पैक को आंखों तथा होठों के भाग को छोड़कर बाकी चेहरे पर लगा लीजिए तथा इस मिश्रण को 30 मिनट बाद ताजे स्चच्छ पानी से धे डालिए।
आंखों की चमकीली तथा सुन्दरता के लिए चेहरे पर पफेस मास्क लगाने के बाद दो काटनवूल पैड को गुलाब जल में भीगोईए तथा आई पैड की तरह प्रयोग कीजिए। इसे आंखों पर लगाने के बाद 20 मिनट तक आराम से लेट जाइए।
बाड़ी स्क्रब के लिए चावल पाउडर, तिल के तेल, सूखी पुदीना पत्तियों, दही, शहद तथा चुटकी भर हल्दी मिलाकर मिश्रण तैयार कर लीजिए। तिल का तेल वास्तव में सूर्य की गर्मी से झुलसी त्वचा को शांति तथा सुरक्षा प्रदान करता है तिल के बीजों को दरदरा करके पीसिए तथा इसमें सूखी पूदीने पत्तियोें को मिलाकर मिश्रण तैयार कर लीजिए। इस मिश्रण में थोड़ा शहद मिलाकर इस मिश्रण को त्वचा पर लगा लीजिए। इसे त्वचा पर कालिमा को दूर करने तथा त्वचा की रंगत को निखारने में मदद मिलती है। पुदीने की पत्तियों का त्वचा पर स्पफूर्तिदायक प्रभाव होता है जिससे चेहरे की रंगत में लालिमा आती है। शहद त्वचा में नमी तथा कोमलता लाता है। शुष्क त्वचा के लिए इस मिश्रण में एक चम्मच शु( बादाम तेल मिला लीजिए। इस मिश्रण को नहाने से पहले शरीर में लगाकर आहिस्ता-2 पूरे शरीर में रगड़िए तथा बाद में ताजे पानी से धे डालिए। इसके बाद तिल या जैतून के तेल से शरीर की मालिश कीजिए। हाथों को सुन्दरता के लिए ताजे संतरे की छीलन को पफाडकर इन्हें हाथों पर लगाने से चेहरे में चमक आ जाती है। नाखूनों तथा बाहरी त्वचा को पोषित तथा मुलायम करने के लिए बादाम तेल तथा शहद को बराबर मात्रा में मिलाइए तथा उससे नाखूनों, हाथों तथा बाहरी त्वचा पर मालिश कीजिए। इस मिश्रण को 20 मिनट बाद ताजे सापफ पानी से धो डालिए।
बालों की सुन्दरता के लिए अपने बालों को प्रत्येक शैम्पू से पहले कंडीशनिंग उपचार प्रदान करे। एक चम्मच सिरके शु( गलीसरीन तथा अण्डे का मिश्रण बनाइए। इस मिश्रण को भली भांति पफेटिए तथा इस मिश्रण को खोपड़ी की खाल पर लगाइए, इसके बाद खोपड़ी को 20 मिनट तक गर्म तौलिए से लपेट लीजिए तथा बाद में बालों को ताजे पानी से धे डालिए। इससे आपके बालों को पोष्टिकता मिलेगी तथा बालों में चमक तथा सौंदर्य का निखार होगा।
शुष्क, टूटे हुए तथा घुंघराले बालों को सौंदर्य प्रदान करने के लिए 2 बूंद हल्के बनस्पति तेल को लेकर अपनी हथेली पर रखिए तथा दोनों हथेलियों को हल्के-हल्के से मालिश कीजिए ताकि तेल दोनों हथेलियों पर समान रूप से समा जाता है तथा दोनों हथेलियों से सिर को अहिस्ता-अहिस्ता मालिश कर लीजिए। इस उपचार से शुुष्क बालों को काफी फायदा मिलता है।

शहनाज हुसैन

लेखिका अन्र्तराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त सौंदर्य विशेषज्ञ है तथा हर्बल क्वीन के नाम से लोकप्रिय है।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Translate »
Skip to toolbar