ब्रेकिंग न्यूज़

भारत ने एक महान नेता खो दिया–भीमसिंह

नई दिल्ली। नेशनल पैंथर्स पार्टी ने भारत के पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर दुख और दर्द प्रकट किया, जो पूरी दुनिया में अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलनों में भारत का चमकता हुआ सितारा हुआ करते थे। उनकी संयुक्त राष्ट्रसंघ जनरल असैम्बली में हिन्दी में दिया गया भाषण भारतीय इतिहास में एक ऐतिहासिक यादगार है। प्रो.भीमसिंह ने स्व. श्री अटल बिहारी जी के निधन पर दुख और दर्द प्रकट करते हुए उनके साथ भारत और विदेश में हुई मुलाकातों को याद किया, जिसमें संयुक्त राष्ट्रसंघ में भारतीय प्रतिनिधिमंडल में उनका भाग लेना शामिल है, जिसका नेतृत्व अटल बिहारी वाजपेयी जी कर रहे थे। पैंथर्स सुप्रीमो ने कहा कि श्री अटल बिहारी जी ने एक तरह से उनकी उस समय मदद की, जब अन्य युवा कांग्रेस नेताओं के साथ संसद मार्ग पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था, जब उन्होंने श्री अटल बिहारी जी की नई दिल्ली बोट क्लब में विशाल जनसभा में रुकावट डाली थी। श्री अटल बिहारी जी ने संसद में घोषणा की कि भीमसिंह और जयमाला ने उन्हें बोट क्लब में पथराव करने वालों से बचाया था और उनके हस्तक्षेप से वे और जयमाला रिहा हो सके। उन्होंने एक और घटना को याद करते हुए कहा कि श्री अटल बिहारी जी जब भाजपा अध्यक्ष के रूप में श्रीनगर, श्रीनगर में एक जनसभा को सम्बोंधित कर रहे थे तो कुछ शरारती तत्वों ने इसमें रुकावट डालने की कोशिश की तो भीमसिंह अपने साथियों के साथ उनके समर्थन में सामने आ गये, जिससे वे अपना भाषण बिना रुकावट के जारी रख सकें। श्री अटल बिहारी जी इस घटना को कभी नहीं भूल सकते।
प्रो.भीमसिंह ने कहा कि ऐसी कई घटनाएं हैं जिनमें उन्हें श्री अटलजी से बातचीत करने का अवसर मिला। उन्होंने कहा कि श्री अटल जी एक महान धर्मनिरपेक्ष नेता थे, जो जाति, धर्म और नागरिकता की परवाह किये बिना हर किसी के लिए इंसानियत से भरा दिल रखते थे और हरेक की मदद करते थे। उन्होंने कहा कि वे दुनिया के उन महान नेताओं में शामिल थे, जिन्हें दुनिया में हर तरफ लोग हमेशा याद रखेंगे। श्री वाजपेयी जी का संदेश था कि मानवता एक महान धर्म है।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Translate »
Skip to toolbar