ब्रेकिंग न्यूज़

मुठभेड़ में जिंदा बचे आतंकी को सुरक्षित भगाने में स्थानीय लोगों की भूमिका उजागर

श्रीनगर । कश्मीर घाटी में आतंकियों को सुरक्षा देने और उन्हें भगाने का मामला सामने आया है। दरअसल, बुधवार को सुरक्षाबलों द्वारा मुठभेड़ में दो आतंकी मारे गए थे और एक जिंदा बच गया था। अब इस जिंदा बचे आतंकवादी को स्थानीय युवकों द्वारा बचाने और उसे भगाने का वीडियो वायरल हो रहा है। ढेर आतंकियों में एक नवीद जट पत्रकार शुजात बुखारी हत्याकांड में शामिल रहा था। दरअसल, सुरक्षाबलों को कुठपोरा में आतंकियों के एक घर में छुपे होने की पुख्ता सूचना मिली थी। जवानों को घर के पास पहुंचने पर आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। सुरक्षाबलों को लगा कि इस मुठभेड़ में तीन आतंकी मारे गए हैं। मुठभेड़ स्थल से दो आतंकियों के शव भी मिले पर तीसरे आतंकी का शव नहीं मिला था। बाद में एक वायरल वीडियो में मलबे में बदले उस घर से तीसरा आतंकी जिंदा बाहर आता दिख रहा है। स्थानीय युवक उस आतंकी को बचाते दिख रहे हैं। युवकों का आतंकियों को बचाने का यह वीडियो वायरल हो गया है।
एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) मुनीर खान ने बताया था कि सुरक्षाबलों ने कुठपोरा में पुख्ता सूचना मिलने पर आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन शुरू किया था। सुरक्षाबलों को इस मुठभेड़ में तीन आतंकियों के मारे जाने की जानकारी थी। उधर, राज्य के डीजीपी दिलबाग सिंह ने इस घटना की जानकारी देते हुए बताया था कि मुठभेड़ में मारा गया आतंकी जट दर्जनों हत्याओं में शामिल रहा था। गौरतलब है कि श्रीनगर के श्री महाराजा हरि सिंह हॉस्पिटल के अंदर लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादियों ने हमला कर इसी वर्ष फरवरी महीने में अबु हंजूला उर्फ नवीद जट को छुड़ा लिया था। इस हमले में दो पुलिसकर्मी भी शहीद हो गए थे। जट के ढेर करने के बाद बडगाम में कई जगह संघर्ष भी हुए। पथराव में सीआरपीएफ का एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गया। संघर्ष में सेना के दो जवान भी घायल हुए हैं।
कश्मीर घाटी में आतंकियों को सुरक्षा देने और उन्हें भगाने का मामला सामने आया है। दरअसल, बुधवार को सुरक्षाबलों द्वारा मुठभेड़ में दो आतंकी मारे गए थे और एक जिंदा बच गया था। अब इस जिंदा बचे आतंकवादी को स्थानीय युवकों द्वारा बचाने और उसे भगाने का वीडियो वायरल हो रहा है। ढेर आतंकियों में एक नवीद जट पत्रकार शुजात बुखारी हत्याकांड में शामिल रहा था। दरअसल, सुरक्षाबलों को कुठपोरा में आतंकियों के एक घर में छुपे होने की पुख्ता सूचना मिली थी। जवानों को घर के पास पहुंचने पर आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। सुरक्षाबलों को लगा कि इस मुठभेड़ में तीन आतंकी मारे गए हैं। मुठभेड़ स्थल से दो आतंकियों के शव भी मिले पर तीसरे आतंकी का शव नहीं मिला था। बाद में एक वायरल वीडियो में मलबे में बदले उस घर से तीसरा आतंकी जिंदा बाहर आता दिख रहा है। स्थानीय युवक उस आतंकी को बचाते दिख रहे हैं। युवकों का आतंकियों को बचाने का यह वीडियो वायरल हो गया है।
एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) मुनीर खान ने बताया था कि सुरक्षाबलों ने कुठपोरा में पुख्ता सूचना मिलने पर आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन शुरू किया था। सुरक्षाबलों को इस मुठभेड़ में तीन आतंकियों के मारे जाने की जानकारी थी। उधर, राज्य के डीजीपी दिलबाग सिंह ने इस घटना की जानकारी देते हुए बताया था कि मुठभेड़ में मारा गया आतंकी जट दर्जनों हत्याओं में शामिल रहा था। गौरतलब है कि श्रीनगर के श्री महाराजा हरि सिंह हॉस्पिटल के अंदर लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादियों ने हमला कर इसी वर्ष फरवरी महीने में अबु हंजूला उर्फ नवीद जट को छुड़ा लिया था। इस हमले में दो पुलिसकर्मी भी शहीद हो गए थे। जट के ढेर करने के बाद बडगाम में कई जगह संघर्ष भी हुए। पथराव में सीआरपीएफ का एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गया। संघर्ष में सेना के दो जवान भी घायल हुए हैं।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Translate »
Skip to toolbar