ब्रेकिंग न्यूज़

कोयला घोटाला: एससी गुप्ता 12 मामलों में आरोपी

नई दिल्ली । कोयला ब्लॉक आवंटन घोटाला मामले में पूर्व कोयला सचिव एससी गुप्ता और दो अन्य नौकरशाहों को सजा सुनाई गई है। अभियोजन पक्ष के मुताबिक कोयला ब्लॉक आवंटन में कथितअनियमितताओं के 12 मामलों में गुप्ता आरोपी हैं। सीबीआई ने यूपीए-1 और यूपीए 2 के दौरान कोयला ब्लॉक आवंटन के 40 मामलों में कथित अनियमतिताओं के सिलसिले में आरोपपत्र दायर किया था। सुप्रीम कोर्ट ने 25 जुलाई 2014 को सभी कोयला घोटाले के मामले विशेष रूप से निपटने के लिए विशेष न्यायाधीश के रूप में अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश पराशर की नियुक्ति को मंजूरी दी थी।
क्या है मामला
यह मामला पश्चिम बंगाल में मोइरा और मधुजोर (उत्तर और दक्षिण) कोयला ब्लॉक वीएमपीएल को आवंटन में कथित अनियमितताओं से संबंधित है। सीबीआई ने मामले में सितंबर 2012 में केस दर्ज की थी। सीबीआई ने पांच दोषियों को अधिकतम पांच साल की सजा व निजी कंपनी पर जुर्माना लगाने की मांग की थी। इस अपराध में दोषियों को न्यूनतम एक साल और अधिकतम सात साल की सजा हो सकती है। आदेश सुनाए जाने के बाद सभी दोषियों को न्यायिक हिरासत में ले लिया गया। भ्रष्टाचार रोकथाम अधिनियम व धोखाधड़ी, आपराधिक साजिश और आपराधिक दुर्व्यवहार सहित भारतीय दंड संहिता के तहत अपराध के लिए सभी को दोषी पाया गया। विशेष अदालत ने अब तक छह ऐसे मामलों पर निर्णय दिया है। वर्तमान मामले में कोर्ट ने 19 अगस्त 2016 को गुप्ता, दो लोक सेवकों, कंपनी व इसके दो अफसरों के खिलाफ धोखाधड़ी और आपराधि साजिश सहित आरोप तय किया था।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Translate »
Skip to toolbar