ब्रेकिंग न्यूज़

नेताजी के गनमैन रहे भलेराम कोहाड़ का ‎निधन, ग्रामीणों ने की शहीद स्मारक बनाने की मांग

चंडीगढ़। नेताजी सुभाष चंद्र बोस के गनमैन रहे हसनगढ़ निवासी भलेराम कोहाड़ का ‎दिल की धड़कन रुकने से ‎निधन हो गया। 95 साल के स्वतंत्रता सेनानी भलेराम काफी दिनों से बीमार चल रहे थे। उनके निधन पर गांव के सरपंच और सामाजिक संगठन ने गहरा शोक जताया है। ग्रामीणों ने सरकार से मांग की है कि स्वतंत्रता सेनानियों की याद में गांव में शहीद स्मारक व अन्य यादगार स्थान बने। उनके सबसे बड़े बेटे सतबीर सिंह ने उन्हें मुखाग्नि दी। तो पुलिस के 7 जवानों ने उन्हें अंतिम सलामी भी दी।
गौरतलब है ‎कि भलेराम ने कई देशों में घूमते हुए नेताजी के साथ आजादी की लौ को जिंदा रखा और 16 जून 1945 को उन्हें गिरफ्तार कर रंगून की जेल में बंद कर ‎दिया गया था। सवा साल जेल में रहने के बाद जब देश आजाद हुआ तो उन्हें वापस भारत भेजा गया। स्वतंत्रता सेनानी भलेराम को वर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में सम्मानित कर चुके हैं। भलेराम के परिवार में 85 वर्षीय पत्नी गिन्ना देवी, चार बेटे व दो बेटियां हैं। बड़े बेटे सतबीर खेती करते हैं जबकि दूसरे नंबर के बेटे रणधीर स्कूल में हेडमास्टर हैं। तीसरे बेटे रणबीर सिंह चंडीगढ़ पुलिस में सब इंस्पेक्टर और चौथे राजबीर सिंह डीपीई के पद पर पदस्थ हैं।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Translate »
Skip to toolbar