ब्रेकिंग न्यूज़

हिमाचल में रिकार्ड 74. 25 प्रतिशत मतदान

नयी दिल्ली/शिमला। हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव में आज शाम पांच बजे तक रिकार्ड 74. 25 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया । निर्वाचन उप आयुक्त संदीप सक्सेना ने शाम सात बजे यहां संवाददाता सम्मेलन में बताया कि मतदान पूरी तरह शांतिपूर्ण ढंग से हुआ और कुल 50 लाख 25 हजार 941 मतदाताओं में से शाम पांच बजे तक 74. 25 प्रतिशत ने वोट डाले । उन्होंने बताया कि पिछले विधानसभा चुनाव में 73.51 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था जबकि पिछले लोकसभा चुनाव में मतदान प्रतिशत 64.45 रहा था ।

उन्होंने बताया कि मतदान के दौरान 33 बैलेट इकाइयाें, 29 नियंत्रण इकाइयों और 79 वीवीपैट को तकनीकी खामी के कारण बदलना पड़ा। इस चुनाव में कुल 11150 वीवीपैट का इस्तेमाल किया गया और इन्हें 11283 ईवीएम इकाइयों के साथ जोडा गया। इस दौरान 2300 मतदान केन्द्रों को वेब कास्ट से जोडा गया।

चुनाव आयाेग के अनुसार मतदान कुल मिलाकर शांतिपूर्ण रहा और चुनावों को निष्पक्ष बनाने के लिए 2345 आरोपियों के खिलाफ अदालत ने गैर जमानती वारंट जारी किए थे और एहतियात के तौर पर 602 लोगों को गिरफ्तार किया गया था।

श्री सक्सेना ने बताया कि राज्य के सभी 68 विधानसभा क्षेत्रों में सुबह आठ बजे से मतदान शुरु हुआ । इस चुनाव में कुल 337 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं जिनमें से 19 महिलायें हैं । राज्य में सभी मतदान केन्द्रों पर इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीनों के साथ पहली बार वीवीपैट मशीनों का इस्तेमाल किया गया ।

उन्होंने बताया कि राज्य में शांतिपूर्ण और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किये गये थे । इसके लिए बड़ी संख्या में अर्द्धसैनिक बलो , राज्य पुलिसकर्मियों तथा होमगार्ड को लगाया गया था ।

चुनाव के लिए 7525 मतदान केंद्र बनाये गये थे जिनमें से 983 मतदान केंद्रो को अतिसंवेदनशील और 399 को संवेदनशील घोषित किया गया था । किन्नौर के एक दुर्गम स्थान में छह मतदाताओं के वोट डालने के लिए भी मतदानकर्मियों को तैनात किया गया था । लाहौल स्पीति के हिक्किम में 13 हजार 536 फुट की उंचाई पर 72 मतदाताओं के मतदान के लिए भी बूथ बनाया गया था ।

राज्य में चुनाव की घोषणा के बाद एक करोड़ 61 लाख रुपये से अधिक की राशि तथा पांच लाख रुपये से अधिक मूल्य की तीन लाख 44 हजार लीटर शराब जब्त की गयी। इसके अलावा बड़ी मात्रा में अन्य मादक पदार्थ भी जब्त किये गये ।

इस चुनाव में मुख्य मुकाबला सत्तारुढ कांग्रेस और मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी के बीच है । कांग्रेस एक बार फिर मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के नेतृत्व में चुनाव लड़ रही है जबकि भाजपा ने पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल को अपना मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनाया है ।

कांग्रेस और भाजपा ने सभी 68 सीटों पर अपने-अपने उम्मीदवार उतारे हैं। बहुजन समाज पार्टी ने 42, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने 14, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने तीन और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और समाजवादी पार्टी ने दो- दो सीटों पर प्रत्याशी खड़े किये हैं। इसके अलावा 112 निर्दलीय उम्मीदवार भी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। कुछ अन्य पंजीकृत दलों ने 27 उम्मीदवार उतारे हैं।

राज्य में सर्वाधिक 12 उम्मीदवार धर्मशाला सीट से अपनी चुनावी किस्मत आजमा रहे हैं जबकि सबसे कम दो उम्मीदवार झंटुता (सुरक्षित) सीट से हैं। मंडी सीट से सर्वाधिक दो महिला उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा निर्वाचन क्षेत्र लाहुल स्पीति है लेकिन वहां सबसे कम मतदाता हैं ।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Translate »
Skip to toolbar