ब्रेकिंग न्यूज़

मीडिया व साहित्य की सूचनाओं का भंडार है पत्रकारिता कोश : डॉ.सतीश पांडेय

विजय न्यूज़। लाल बिहारी लाल
नई दिल्ली। लिम्का बुक ऑफरिकॉर्ड्स में दर्ज भारत की प्रथम मीडिया डायरेक्टरी”पत्रकारिताकोश” के17वें अंक काविमोचनयशोदा हॉल,पंडित इस्टेट,जोशीबाग,कल्याण (पश्चिम) मुंबई में संपन्न हुआ।ऊँ शिवम सत्संग ट्रस्ट एवं सोनावणे कॉलेज,कल्याणके संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस समारोहकीअध्यक्षताके.जे.सोमैया कॉलेजके हिंदी विभागाध्यक्षडॉ.सतीश पांडेय नेकी।डॉ.सतीश पांडेय ने कहा किपत्रकारिता कोश मीडिया वसाहित्य की सूचनाओं का भंडार है. पत्रकारिता एवं साहित्य के क्षेत्र में बड़ी तेजीसे बदलाव आ रहा है. ऐसे में पत्रकारिता व साहित्य जगत की सूचनाओं को आम लोगों तकपहुंचाने और उन्हें एक मंच पर लाने का काम पत्रकारिता कोश के माध्यम से हो रहा है।समारोह में प्रमुख अतिथि के रूप मेंउपस्थित दै. मुंबईमित्र/वॄत्त के समूह संपादकअभिजीत राणे ने कहा किपत्रकारों को इस समय काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है ऐसे मेंमीडिया जगत को इकट्ठा होकर अपनी आवाज बुलंद करने की जरूरत है. इस कार्य को सरलबनाने में पत्रकारिता कोश एक कड़ी का काम कर रहा है जो अत्यंत सराहनीय है।

पत्रकारिता कोशके17वेंअंकका विमोचन संपन्न

रेलवे समाचार के संपादकसुरेशत्रिपाठी ने कहा कियह कोश न सिर्फ लेखक-पत्रकारों केलिए उपयोगी है बल्कि यह आम लोगों के लिए भी उतनी ही लाभदायक है. नवभारत टाइम्स केठाणे ब्यूरो चीफअनिल शुक्ला ने कहा किइलेक्ट्रॉनिक मीडिया के बढ़ते क्रेज के बावजूद प्रिंट मीडिया का अपना एकअलग ही रुतबा है और इसकी प्रसार संख्या में लगतार वॄदिध हो रही है. यही वजह है किपत्रकारिता कोश की लोकप्रियता निरंतर बनी हुई है।

वरिष्ठ पत्रकार वअभिनेताअनिल थत्तेने कहा कि यह कोश अब अंतर्राष्ट्रीयस्वरूप ले चुका है और इसमें निरंतर सुधार हो रहा है. प्रजा राज्य के संपादकविष्णु कुमार चौधरीएवं वरिष्ठ पत्रकारमहादेव पंजाबी नेपत्रकारिता को लोकतंत्र काचौथा स्तंभ बताते हुए देश के विकास में इसकी भूमिका पर प्रकाश डाला।के.एम.अग्रवाल कॉलेज,कल्याणके महासचिवडॉ.विजयपंडित नेअपने स्वागत वक्तव्य मेंकहा किपत्रकारिता कोश इतनी उपयोगी है कि अबइसका स्वरूप अंतर्राष्ट्रीय हो गया है इसलिएइस कोश कानामअबगिनीज बुक मेंभीहोना आवश्यक है. उपप्राचार्यडॉ.आर.बी.सिंह तथा हिंदीविभागाध्यक्षडॉ.मनीष मिश्रनेभी पत्रकारिता कोश को साहित्य और मीडिया का पुलबताया।टाटा मेमोरियलअस्पताल के चिकित्सा वैज्ञानिकडॉ.संजय गुप्ता ने कहा किपत्रकारिता समाज का दर्पण होता है ऐसे में समाज को सही रास्ता दिखाने मेंपत्रकारों की अहम भूमिका होती है.राजीव गांधी हाईस्कूल,कल्याणके प्राचार्यडॉ.रमाकांत तिवारी(क्षितिज)ने कहा किपत्रिकाप्रारंभ करना आसान बात है लेकिन उसे निरंतर 17 वर्षां तकप्रकाशित करना कठिन व श्रमसाध्य कार्य है.प्रभु रामशिक्षण संस्थाके संचालकदर्शनबद्री नारायण तिवारीवएम.के.एजूकेशनल एंड रिसर्च एसोसिएशनके महासचिवअमित विजय तिवारी ने पत्रकारिता कोशके प्रकाशन पर अपनी शुभकामनाएं व्यक्त कीं।

कार्यक्रम मेंसम्माननीयअतिथि के रूप मेंघनश्याम गुप्ता (महासचिव ,जे.बी.शाह मार्केट व्यापारी एसोसिएशन),प्रतिभाबाजपेयी(संपादक,स्टोरीमिरर),लाइफ ओके के मुख्य संपादक फिरोज एम खान,युनाइटेड महाराष्ट्र के संपादक एस.एन.दुबे,नवभारत के संवाददाता अखिलेश मिश्र,आदि उपस्थित थे।कार्यक्रम का प्रारंभ कवि व समरस चेतना के कार्यकारीसंपादक रवि यादव की सरस्वती वंदना से हुआ.तत्पश्चातसभी अतिथियों का स्वागत शॉल,पुष्पगुच्छ व स्मॄति चिह्नदेकर किया गया.संपादक आफताब आलम ने पत्रकारिता कोश केनिरंतर17वें अंक के प्रकाशन पर अपने विचार प्रकट किएऔर इसकी निरंतरता बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध बताया।समारोह मेंसुरेंद्र मिश्रा(प्रधान संवाददाता/महाराष्ट्र ब्यूरो,अमर उजाला)तथा राज शर्मा(मुख्य संपादक,क्राइम रिपोर्टर्स टीवी न्यूज)को पत्रकारिताकोश की ओर से श्रेष्ठ सूचना ब्यूरो सम्मान प्रदान किया गया.इस अवसर परयुनाइटेड महाराष्ट्र समाचारपत्र तथाश्रीमती शारदा भास्कर शेट्टी मेमोरियल ट्रस्ट की ओर से टाटा मेमोरियल अस्पताल केचिकित्सा वैज्ञानिक डॉ.संजय गुप्ता को चिकित्सा गौरवसम्मान से नवाजा गया.कार्यक्रम का संचालन डॉ.अनंत श्रीमाली(सहा.निदेशक,कें.हिं.प्रशि.उप संस्थान,भारतसरकार)ने किया जबकि आभार प्रदर्शन पत्रकार/व्यंग्यकार/स्तंभकार राजेश विक्रांत ने किया।समारोहमेंविकलांग की पुकार के कार्यकारी संपादक सरताज मेहदी,निरंकुश कलम के संपादक जाफर शेख,अनूपम मेल केसंपादक दिनेशचंद्र बैसवारी,जनसंसार के ब्यूरो चीफनागेंद्र सिंह,शोध शक्ति के संपादक पवन तिवारी,लेखक सलाम शेख,डॉ.एस.एम.एच.रिज्वी(प्रिंस),मीडिया समाचार की संपादक विद्या पवनदुबे व हुमायूं कबीर,जानता राजा के संपादक राजारामगायकवाड़,नूतन पांडेय,कमरअंसारी,आदि सहित मुंबई,ठाणे,कल्याण व पालघर जिला के सैकड़ों लेखक,पत्रकारउपस्थित थे।

लगभग700पृष्ठों परआधारित इसअखिल भारतीय कोश मेंमुंबई सहित देश के विभिन्न क्षेत्रों से प्रकाशित होने वाले विविध भाषाओंके समाचारपत्र-पत्रिकाओं/समाचार चैनलों,आदि के साथ-साथ उनमें कार्यरत लेखक-पत्रकारों/कवि-साहित्यकारों/स्वतंत्र पत्रकारों/प्रेस फोटोग्राफरों/वीडियोकैमरामैनों/प्रेस संगठनों/फीचर एजेंसियों/पत्रकारिता प्रशिक्षण संस्थानों,आदि के नाम वपतेप्रकाशित किए गए हैं।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Translate »
Skip to toolbar