ब्रेकिंग न्यूज़

लड़कियों की हाॅकी टीम से दुर्व्यवहार, खेल मंत्री ने दिये जांच के आदेश

नयी दिल्ली। केंद्रीय खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने पैसिफिक स्कूल गेम्स में हिस्सा लेने आस्ट्रेलिया में गईं महिला हॉकी टीम के खिलाड़ियों के साथ हुई दुर्व्यवहार मामले में जांच के आदेश दिए हैं।
सोशल मीडिया पर एक वीडियो वाइरल हो रहा है जिसमें हॉकी टीम की लड़कियां भारतीय अधिकारियों की तरफ से सुविधाएं न मिलने पर हंगामा कर रही है। भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) ने मामले पर स्पष्टीकरण देते हुए कहा है कि उसने वीडियो में शामिल टीम और कोच प्रदीप कुमार को यात्रा के लिए इजाजत नहीं दी है।
हाॅकी इंडिया ने भी मामले पर सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने भी दौरे के लिए अपनी इजाजत नहीं दी है। लेकिन खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने मामले को गंभीरता से लेते हुए इसके जांच के आदेश दिए हैं।
सोमवार को पोस्ट हुई इस वीडियो में दिखाया गया है कि लड़कियां भारतीय अधिकारियों की लापरवाही से नाराज दिख रही है। उन लड़कियों में से एक लड़की यह कह रही है कि उन्हें उन्हें मैचों के बारे में जानकारी नहीं मिली जिससे वे समय से मैच के लिए अपने निर्धारित स्थान पर नहीं पहुंच पाई। इसके अलावा मैच स्थल पर जाने के लिए
उनके लिए परिवहन की भी व्यवस्था नहीं की गई आैर खिलाड़ी खुद ही कैब करके मैच स्थल पर पहुंचे। हॉकी इंडिया ने ट्वीट कर कहा कि उन्होंने किसी भी टीम को खेलने के लिए वहां नहीं भेजा है और साई भी इस मामले में शामिल नहीं है।
फोरम फार इंडियन आस्ट्रेलियन (एफआईए) जब कोच के पास पहुंची तो पता चला कि लड़कियां पैसिफिक स्कूल में आयोजित खेलों में हिस्सा लेने के लिए आस्ट्रेलिया आई हैं। कोच ने बाद में कहा कि कुछ गलतफहमी हुई थी जिसे अब दूर कर लिया गया है और स्थिति नियंत्रित है।
उल्लेखनीय है कि आस्ट्रेलिया में कई स्कूल टीमों के खिलाफ मैच खेले जाते हैं और इनमें विभिन्न स्कूलों को शामिल किया जाता है। स्कूल गेम्स फेडरेशन आफ इंडिया (एसजीएफआई) इन खेलों के लिए खिलाड़ियों की मदद करता है। एसजीएफआई स्वतंत्र रूप से पंजीकृत निकाय है जो खेल मंत्रालय से संबंधित है।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Translate »
Skip to toolbar