ब्रेकिंग न्यूज़

बेल्जियम काे शूट कर भारत सेमीफाइनल में

भुवनेश्वर। गोलकीपर अकाश चित्के के कमाल के प्रदर्शन से मेजबान भारत ने बेल्जियम को बुधवार को 3-2 से पराजित कर एफआईएच हॉकी वर्ल्ड लीग फाइनल्स के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया। यहां कलिंगा स्टेडियम में खेले गये मुकाबले में दोनों टीमें निर्धारित समय तक 3-3 से बराबरी पर रहने के बाद शूटआउट का सहारा लिया गया जिसमें एशियाई चैंपियन भारत ने अपने से ऊंची रैंकिंग की टीम बेल्जियम को 3-2 से शूट कर दिया। विश्व रैंकिंग में छठे नंबर की टीम भारत के लिए निर्धारित समय तक गुरजंत सिंह ने 31वें, हरमनप्रीत सिंह ने 35वें और रूपिंदर सिंह ने 46वें मिनट में गोल किये जबकि बल्जियम के लिए लोईक ल्यूपार्ट ने 39वें तथा 46वें और एमॉरी क्यूस्टर्स ने 53वें मिनट में गोल दागे। मैच में 3-3 की बराबरी के बाद मैच पेनल्टी शूटअाउट में चला गया।
शूटआउट में बेल्जियम के लिए फलोरेंट वानवोबेल ने गेंद को गोल में पहुंचाया। भारत की तरफ से हरमनप्रीत सिंह चूके लेकिन फिर ललित उपाध्याय ने भारत को बराबरी दिलाई। उसके बाद रूपिंदर पाल सिंह ने भारत को बढ़त दिलाई।
लेकिन उसके बाद आर्थर वान डोरेन ने 2-2 से बराबरी दिलाई। इसके बाद सुमित और आकाशदी सिंह अपने प्रयास चूक गए। हरमनप्रीत सिंह ने भारत को 3-2 से अागे कर दिया। अकाश चिक्ते ने जैसे ही आर्थर वान डोरेन के प्रयास को रोका वैसे ही भारत के खिलाड़ी ऊछल पड़े और सबने गोलकीपर को गले लगा लिया।
पूरे कलिंगा स्टेडियम में हर्ष की लहर दौड़ गई। भारतीय खिलाड़ियों ने स्टेडियम का चक्कर लगाकर दर्शकों का अभिवान स्वीकार किया। इससे पहले दिन के एक अन्य क्वार्टरफाइनल में ब्लैक गोवर्स के 50वें मिनट में किये गये दो शानदार गोलों की बदौलत विश्व चैंपियन आस्ट्रेलिया ने स्पेन को 4-1 से पीटकर सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया।
आस्ट्रेलिया ने ग्रुप चरण में अपने तीन मैच ड्र खेला था। लेकिन यहां उसने शानदार प्रदर्शन करते हुए सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है। मुकाबले में दूसरे क्वार्टर के 28वें मिनट तक 1-1 से बराबरी रहने के बाद आस्ट्रेलिया ने चौथे क्वार्टर में तीन गोल दागे।
विश्व रैंकिंग में नौंवें नंबर की टीम स्पेन ने दूसरे नंबर की टीम आस्ट्रेलिया के खिलाफ शानदार शुरुआत की। टीम ने 20 वें मिनट में मार्क गार्सिया के मैदानी गोल की बदौलत स्कोर 1-0 कर लिया। लेकिन आस्ट्रेलिया ने वापसी करते हुए 28 वें मिनट में जैरेमी हेवर्ड के पेनल्टी कार्नर पर किये गये गोल के सहारे स्कोर 1-1 से बराबरी पर ला दिया।
विश्व चैंपियन आस्ट्रेलिया ने इसके बाद 48वें मिनट में अारोन क्लिंसमीड्ट के पेनल्टी कार्नर पर किये गये गोल की बदौलत मुकाबले में 2-1 की बढ़त हासिल कर ली। टीम ने इसके बाद 50 वें मिनट में ब्लैक गोवर्स द्वारा पेनल्टी कार्नर पर किए गए गोल की मदद से अपनी बढ़त को 3-1 पहुंचा दिया।
गोवर्स ने 50वें मिनट में ही एक और पेनल्टी कार्नर को गोल तब्दील कर आस्ट्रेलिया को 4-1 से जीत दिलाते हुए सेमीफाइनल में पहुंचा दिया। गोवर्स का टूर्नामेंट में यह चौथा गोल था। उसने इससे पहले जर्मनी और इंग्लैंड के खिलाफ भी एक-एक गोल दागे थे।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Translate »
Skip to toolbar