National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

अपने 7.25 लाख वापस मांग रहा था भाई, बहन ने की हत्या

फरीदाबाद । पैसों के लिए खून के रिश्तों में का खून हो जाना कोई नई बात नहीं है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है। मामले में महिला ने अपने ही छोटे भाई का सिर्फ इसकारण कत्ल कर दिया। क्योंकि वह उधार दिए पैसे वापस मांग रहा था। मामला डबुआ कॉलोनी का है, जहां त्रिलोकी (30) नाम के युवक की हत्या हुई। इसमें पुलिस ने खुलासा किया है कि त्रिलोकी की हत्या उसकी बड़ी बहन ने की थी। हत्या के पीछे रुपयों का लेन-देन सामने आया है। नवंबर 2016 में हुई नोटबंदी के पहले त्रिलोकी ने अपना प्लॉट बेचकर 7.25 लाख रुपये बहन-बहनोई को दिए थे। कुछ समय के बाद जब त्रिलोकी अपने पैसे मांगना शुरु किया तो हर रोज विवाद होना शुरु हो गया था। त्रिलोकी के चाचा की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने केस दर्जकर पीजीआई रोहतक में शव का पोस्टमॉर्टम करवाया। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सामने आया कि मौत हैंगिंग से नहीं बल्कि गला घोंटने से हुई है। इसके बाद त्रिलोकी की बहन को गिरफ्तार कर क्राइम ब्रांच ने सख्ती से पूछताछ की,तो उसने हत्या की बात मान ली।
क्राइम ब्रांच डीएलएफ के इंचार्ज नवीन पाराशर ने बताया कि त्रिलोकी की पत्नी उस छोड़कर तीन साल पहले मायके चली गई थी। मां है नहीं और पिता की मानसिक स्थित सही नहीं है। इसकारण त्रिलोकी अपनी बड़ी बहन के घर में रहता था। शहर में ही एक उसका प्लॉट था,जिस उसने 2016 में नोटबंदी से पहले बेचकर 7.25 लाख रुपये बहन-बहनोई को दे रखे थे। मंगलवार शाम वह शराब पीकर आया और बहन से रुपये वापस मांगने लगा। इसके बाद त्रिलोकी घर से बाहर चला गया। रात 11 बजे वापस आया और जाकर सो गया। पूछताछ में सामने आया कि त्रिलोकी की बड़ी बहन उसके कमरे में गई। इसके बाद वहां मिली एक रस्सी से बेसुध सो रहे अपने भाई का गला घोंट दिया। इसके बाद वह अपने कमरें में आकर सो गई। सुबह होने पर यह कहकर रोना शुरू कर दिया कि उसके भाई ने फांसी लगा ली है। इसी बात को सभी ने सही मान लिया और अंतिम संस्कार की तैयारी शुरू कर दी। इसके बाद त्रिलोकी का चाचा लालचंद पहुंचे और हत्या की आशंका जाहिर पुलिस को सूचना दी। फिर क्राइम ब्रांच डीएलएफ ने केस की जांच कर खुलासा किया।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar