National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

अब PMC बैंक से 40 हजार तक कैश निकाल पाएंगे ग्राहक

पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक के ग्राहकों को एक बार फिर बड़ी राहत मिली है. आरबीआई ने बैंक से कैश निकालने की सीमा अब बढ़ाकर 40 हजार रुपये तक कर दी है. इससे पहले 3 अक्टूबर को PMC बैंक से कैश निकालने की सीमा 25 हजार रुपये थी. लेकिन अब इसे बढ़ाकर 40 हजार रुपये कर दिया गया है. 25 हजार से पहले आरबीआई ने 10,000 रुपये निर्धारित की थी.

बैंक पर RBI की पैनी नजर
दरअसल इस बैंक के डूबने की खबरें फैलते ही लोग पैसे निकालने के बैंक में उमड़ पड़े थे, जिससे अफरा-तफरी मच गई थी. इस बैंक पर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की नजर बनी हुई है. आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास का कहना है कि जमाकर्ताओं के हित के लिए जो भी जरूरी कदम होंगे वो उठाए जाएंगे. इस मुद्दे पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने RBI गवर्नर शक्‍तिकांत दास से मुलाकात की. इस मुलाकात की जानकारी खुद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दी है.
इसके अलावा आरबीआई ने तीन सदस्यों की एक कमिटी बनाने का फैसला लिया है जो बैंकिंग रेगुलेशन एक्ट 1949 के सेक्शन 56 के तहत पीएमसी बैंक के एडमिनिस्ट्रेटर मामलों को देखेगी.

पीएमसी बैंक के बारे में
रिपोर्ट्स के मुताबिक पंजाब एंड महाराष्ट्र को ऑपरेटिव बैंक में ग्राहकों का 11500 करोड़ रुपया जमा है, बैंक की ब्रांच पंजाब, महाराष्ट्र, दिल्ली और गोवा में भी हैं. पीएमसी बैंक की 137 शाखाएं हैं और यह देश के टॉप-10 को-ऑपरेटिव बैंकों में से एक है.

क्‍या है मामला?
दरअसल पीएमसी बैंक पर आरबीआई को गुमराह करने का आरोप है. आरोप के मुताबिक पीएमसी बैंक के मैनेजमेंट ने अपने नॉन परफॉर्मिंग एसेट और लोन वितरण के बारे में आरबीआई को गलत जानकारी दी है. यही वजह है कि आरबीआई ने 6 महीने के लिए पीएमसी बैंक पर कई तरह की पाबंदियां लगाई है.
केंद्रीय बैंक ने यह कार्रवाई बैंकिग रेलुगेशन एक्ट, 1949 के सेक्‍शन 35ए के तहत की है. इस पाबंदियों की वजह से ग्राहकों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. बैंक से ग्राहकों को पैसे निकालने में दिक्‍कत हो रही है. वहीं करीब 6 महीने तक बैंक में कोई नया फिक्‍स्ड डिपॉजिट अकाउंट नहीं खुल सकेगा. इसके अलावा बैंक के नए लोन जारी करने पर भी पाबंदी लगा दी गई है.

Print Friendly, PDF & Email
Tags:
Translate »