National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

अमरनाथ यात्रियों पर हमले का मास्टरमाइंड अबु इस्माइल ढेर

श्रीनगर। सुरक्षा बलों ने गुरुवार को नौगाम में मुठभेड़ में अमरनाथ श्रद्धालुओं की बस पर हमले के मास्टरमाइंड लश्कर कमांडर अबु इस्माइल को उसके पाकिस्तानी साथी सहित मार गिराया। 10 लाख के इनामी इस्माइल की मौत को लश्कर के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है। इसी साल 10 जुलाई को श्री अमरनाथ यात्रा के दौरान बटेंगू (अनंतनाग) में आतंकियों ने श्रद्धालुओं की बस पर हमला किया था, जिसमें आठ यात्रियों की मौत हो गई थी। इस हमले में शामिल आतंकियों की अगुवाई अबु इस्माइल ने की थी। कश्मीर में दो साल से सक्रिय अबु इस्माइल को मार गिराने में सुरक्षा बलों को आधा घंटा भी नहीं लगा। करीब 30 से 35 गोलियां ही चलानी पड़ी और इस्माइल के साथ उसका दूसरा पाकिस्तानी साथी छोटा कासिम भी मारा गया। आतंकी अबु दुजाना द्वारा जाकिर मूसा का हाथ थाम लेने के बाद लश्कर ने इस्माइल को जून में दक्षिण कश्मीर का ऑपरेशनल चीफ बनाया था। दक्षिण कश्मीर में सक्रिय होने से पहले वह जिला बड़गाम और श्रीनगर के बाहरी हिस्सों में सक्रिय था। आइजी मुनीर अहमद खान ने विक्टर फोर्स के जीओसी मेजर जनरल वीएस राजू और आइजीपी सीआरपीएफ के साथ पत्रकारों को बताया कि यह एक क्लीन स्वीप ऑपरेशन रहा। दोनों आतंकी श्रीनगर के बाहरी क्षेत्र नौगाम के कनीपोरा इलाके में एक व्यक्ति विशेष के घर में छिपे थे। सेना और पुलिस के एक संयुक्त कार्यदल ने जैसे ही मकान की घेराबंदी की, आतंकियों ने वहां से भागने का प्रयास करते हुए फायरिंग की। जवानों ने जवाबी फायर कर दोनों आतंकियों को मार गिराया। आतंकियों के पास से दो एसाल्ट राइफलें, दो मैगजीन और एक पाउच के अलावा दो यूबीजीएल भी मिले हैं। सुरक्षाबलों को दोपहर बाद पता चला था कि अबु इस्माइल अपने एक साथी के साथ कनीपोरा में छिपा हुआ है। सेना की 50 आरआर और राज्य पुलिस के विशेष अभियान दल के जवानों ने दोनों आतंकियों को मार गिराया

दो आतंकी जिंदा दबोचे

सुरक्षाबलों ने अबु इस्माइल को मार गिराने से पहले सुबह दो आतंकियों को जिंदा दबोच लिया। उत्तरी कश्मीर के करालगुंड (हंदवाड़ा) में सुरक्षा बलों ने हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी वहीद अहमद बट निवासी काचलू को पकड़ा। उससे एक हथगोला भी मिला है। हंदवाड़ा के साथ सटे कलमाबाद गांव से एक अन्य हिज्ब आतंकी मुहम्मद शफी मीर को भी हिरासत में लिया।

डेढ़ दर्जन से ज्यादा आतंकी वारदातों में था वांछित

-तीन अप्रैल 2017 : इस्माइल ने पांपोर में सीआरपीएफ पर हमला किया था। इस हमले में एक जवान शहीद व छह अन्य जख्मी हुए थे।

25 जून 2017 : डीपीएस पंथाचौक आत्मघाती हमले की साजिश भी इस्माइल ने ही रची थी।

21 नवंबर 2016 : मलपोरा चरार-ए-शरीफ स्थित जम्मू-कश्मीर बैंक की स्थानीय शाखा में लूट में शामिल।

08 दिसंबर 2016 : अरिहाल (पुलवामा) में बैंक डकैतियों को अंजाम देने वाले आतंकियों में भी शामिल था।

15 दिसंबर 2016 : रत्नीपोरा (पुलवामा) में बैंक लूट में शामिल।

– श्रीनगर के जहांगीर चौक में पिछले सप्ताह हुए ग्रेनेड हमले की साजिश इस्माइल ने ही रची थी। इस हमले में एक नागरिक की मौत व करीब 24 जख्मी हो गए थे।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar