National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

आज है यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी का ७२ वा जन्मदिन

नई दिल्ली l यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी रविवार को अपना 72 वां जन्मदिन मना रही हैंl प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनको इस मौके पर बधाई दी हैl पीएम मोदी ने ट्वीट किया, ‘जन्मदिन पर श्रीमती सोनिया गांधी जी को जन्मदिन की बधाईl मैं उनके स्वस्थ और लंबे जीवन की कामना करता हूंl
भारतीय राजनीति में लंबे समय तक अपना प्रभाव रखने वाली पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अपनी खास पहचान हैl उन्होंने 19 साल तक कांग्रेस का नेतृत्व कियाl बेशक, उन्होंने कांग्रेस की कमान अपने बेटे राहुल गांधी को सौंप दी हैl
अभी पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में वो जनसभा को संबोधित करती नजर आई थींl कांग्रेस अध्यक्ष का पद छोड़ने के बाद मुंबई में इंडिया टुडे कॉन्क्लेव में सोनिया गांधी ने अपने चुनाव लड़ने के सवाल पर कहा था कि अब ये कांग्रेस पार्टी ही तय करेगी कि वो चुनाव लड़ेंगी या नहींl इस दौरान सोनिया गांधी ने राजनीति के हर पहलू पर अपनी खुलकर राय रखी थी. जानिए, आखिर भारतीय राजनीति और खुद के बारे में क्या राय रखती हैं सोनिया गांधी…..कांग्रेस अध्यक्ष का पद छोड़ने के बाद सोनिया गांधी ने अपने चुनाव लड़ने के सवाल पर कहा था कि अब ये कांग्रेस पार्टी ही तय करेगी कि वो चुनाव लड़ेंगी या नहींl इस दौरान सोनिया गांधी ने राजनीति के हर पहलू पर अपनी खुलकर राय रखी थीl सोनिआ गाँधी ने कहा की उनके लिए पब्लिक स्पीकिंग बहुत सहज नहीं हैंl यह बात उन्होंने मार्च 2018 में मुंबई में आयोजित इंडिया टुडे कॉन्क्लेव के 17वें संस्करण में खुद कहा थाl उन्होंने कहा था, ‘पब्लिक स्पीकिंग मेरे लिए बहुत सहज नहीं हैl लिहाजा मैं पढ़ने में ज्यादा समय देती हूं.l अब मैं एक सामान्य कांग्रेस कार्यकर्ता के तौर पर पार्टी में हूं.l’
उन्होंने कहा था आज देश में संसदीय नियमों का पालन नहीं हो रहाl संसद में हंगामे के लिए सरकार जिम्मेदार हैlसोनिया गांधी ने कहा था कि वो देश से पूछना चाहती हैं कि क्या मई 2014 में पीएम मोदी के सत्ता में आने से पहले देश एक ब्लैकहोल था और सिर्फ इस तारीख के बाद ही देश ने सब कुछ किया.सोनिया गांधी ने कहा था, ‘सत्तारूढ़ सरकार की तरफ से उन्मादी बयान जानबूझ कर दिए जा रहे हैं और इसके गलत परिणाम हमारे सामने होंगेl वर्तमान समय में खुद के विषय में सोचने पर भी हमला किया जा रहा हैl धार्मिक तनाव बढ़ाने की कोशिश की जा रही हैl दलितों और महिलाओं पर सुनियोजित हमले किए जा रहे हैं. ऐसी स्थिति में उस भारत का क्या हुआ जो हम बनाना चाहते थे? हमें तेज चलने की जरूरत है, लेकिन इतना तेज भी नहीं कि बड़ी जनसंख्या पीछे छूट जाए.’सोनिया गांधी का मानना है कि कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष का पद छोड़ने के बाद अब उनके पास अधिक समय हैl लिहाजा इस समय में वो राजीव गांधी से जुड़े पुराने दस्तावेजों को पढ़ने और परिवार की जिम्मेदारी निभाने में लगा रही हैl जब उनसे पूछा गया था कि क्या पार्टी का पद छोड़ने के साथ उनका राजनीतिक सफर खत्म माना जाए, तो सोनिया ने कहा था कि वो राहुल गांधी के साथ पार्टी के मामलों पर लगातार बातचीत करती रहती हैंl उनकी कोशिश है कि वो देश में एक सेक्युलर फ्रंट को तैयार करने में भूमिका अदा करें, जिससे देश की राजनीति को अच्छी दिशा मिलती रहेl

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar