National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

आठ माह से वेतन को तरस रहे है गांवों में तैनात पम्प आप्रेटर

फरीदाबाद। जन्म स्वास्थ्य विभाग मे पंचायती के द्वारा गांवों में तैनात पम्प आपरेटरो को पिछले आठ महीनो से वेतन के लिए तरसना पड़ताल रहा है। दीपावली का त्यौहार होने के बावजूद भी खण्ड एवं पंचायत विकास अधिकारी आगे मुद्दे कर बैठे हुए है, जबकि पंचायत पम्प आपरेटरों को वेतन नही मिलने के कारण काली दीपावली मनाने को मजबूर हो रही है। यह जानकारी यूनियन के सैक्टर-11 स्थित कार्यालय परिसर में सम्पन्न हुई। बैठक मे प्रान्तीय प्रधान वीरेन्द्र सिंह डंगवाल ने दी। उन्होंने चेतावनी भरे लहजे मे कहा कि आगामी 26 अक्टूबर को प्रदेश के सभी 119 खण्ड  ईकाईयो मे वीडीओ के कार्यालयों के सम्मुख यूनियन धरना प्रदर्शन करेगी। डंगवाल ने यह भी बताया कि उपायुक्त फरीदाबाद को निर्देशक विकास एवं पंचायत हरियाणा ने जलघरों का कार्यरत तमाम पम्प चालकों को उनके वेतन का भुगतान बैंको मे खाते खोल कर करने के निर्देश दिए थे लेकिन तीन साल का समय बीत गया अभी तक किसी भी पंचायत ने आपरेटरों का खाता तक नहीं खोला है वीडीओ कार्यालय उच्च अधिकारियों के आदेशों की अवहेलना कर रहे है। आज की बैठक मे पी0डब्लू0डी0 के तीनों विभागों को निजीकरण रोकने ठेकेदारी प्रथा बन्द करने स्थाई कार्यो पर अस्थाई कर्मचारियों की भर्ती को समाप्त करने की मांगो को लेकर आन्दोलन को तेज करने का प्रस्ताव भी पास किया गया। इसमें आम जनता का सहयोग प्राप्त करने के लिए यूनियन ने जिले के एक सौ गाँवो मे जन सभाये करके हस्ताक्षर अभियान चलाने का निर्णय भी लिया। यूनियन आगामी 23 अक्टूबर से हस्ताक्षर अभियान आरम्भ करेगी। डंगवाल ने बताया कि पी0डब्लू0डी0 के तीनो विभागो द्वारा  आम जनता का नियुक्त जन सेवाये उपलब्ध कारवाई जाती थी पब्लिक हैल्थ का कार्य की जनता को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने का कार्य इस समय प्रदेश के 6841 गांव, 108 कस्बे तथा शहरो मे जन स्वास्थ्य विभाग ने 1282 नहरी जल घर पर आधारित जलघर तथा 9हजार ट्यूबवेल लगाए गए है पानी को शुध्द करने के लिए ब्लीचिंग पाउडर क्लोरीन जांच पड़ताल होती है इस कार्य को करने के लिए पहले 22 हजार कर्मचारी कार्यरत थे लेकिन अब केवल 10 हजार कर्मचारी शेष बचे हुए है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar