National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

आने वाली पीढ़ियों के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए विश्व के नेताओं को एकताबद्ध होना होगा : डाॅ. जगदीश गांधी

‘‘विश्व के दो अरब बच्चों तथा आगे जन्म लेने वाली पीढ़ियों के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए विश्व के नेताओं को एकताबद्ध होना होगा। मानवता की रक्षा करने के लिए विश्व की न्यायपालिका से यही आखिरी उम्मीद है। मानवता को बचाने के लिए विश्व के नेताओं की एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाना आवश्यक है।’’
– डाॅ. जगदीश गांधी,
विश्व के मुख्य न्यायाधीशों के 18वें अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन के संयोजक

नई दिल्ली। ‘‘यह एक बहुत ही निर्णायक समय है जिसमें विश्व नेताओं से अपील की जानी चाहिए कि वे विश्व के 2.5 अरब से अधिक बच्चों और भविष्य में जन्म लेने वाली पीढ़ियों के भविष्य की रक्षा के लिए ठोस कदम उठाना चाहिए।’’ यह बात 18वें अन्तर्राष्ट्रीय मुख्य न्यायाधीशों के सम्मेलन संयोजक डाॅ. जगदीश गांधी ने आज नई दिल्ली के कान्स्टीट्यूशनल क्लब में आयोजित एक प्रेस कान्फ्रेन्स में मीडिया को संबोधित करते हुए कही। विश्व के मुख्य न्यायाधीशों का 18वां अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन लखनऊ में सिटी मोंटेसरी स्कूल द्वारा 10 से 14 नवंबर 2017 तक किया जा रहा है।

प्रधानमंत्री, उपराष्ट्रपति, पूर्व राष्ट्रपति, गवर्नर जनरल, संसद के अध्यक्ष, राजदूत और अन्य प्रतिष्ठित व्यक्तियों के साथ-साथ 60 देशों के 270 मुख्य न्यायाधीशों, न्यायाधीशों, कानूनी दिग्गजों, शांति प्रमोटरर्स एक साथ लखनऊ पहुँच कर इस महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में अपनी भागीदारी के माध्यम से दुनिया के 2.5 अरब बच्चों के लिए एक सुरक्षित और सुरक्षित भविष्य कैसे सुनिश्चित किया जाय इस पर चर्चा की जायेगी। यह सूचना सम्मेलन के संयोजक, प्रसिद्ध शिक्षाविद् और सिटी मोंटेसरी स्कूल, लखनऊ के संस्थापक डा. जगदीश गांधी द्वारा प्रेस और मीडिया के साथ एक इंटरैक्टिव सत्र में आज अपरान्हः 1 बजे कान्स्टीटयूशनल क्लब, नई दिल्ली में दी। प्रेस और मीडिया को संबोधित करते हुए, डा. जगदीश गांधी ने कहा कि भारत के संविधान के अनुच्छेद 51 के आधार पर इस ऐतिहासिक सम्मेलन में विश्व की एकता और विश्व शांति लाने के द्वारा दुनिया के बच्चों के भविष्य की सुरक्षा के लिए समर्पित है। पिछले 17 सालों से लखनऊ में आयोजित इस सम्मेलन के माध्यम से सिटी मोंटेसरी स्कूल विश्व की एकता, विश्व शांति, न्याय और बाल अधिकारों की भावनाओं को प्रज्जवलित कर रहे हैं और 18वां अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन इस दिशा में एक और कदम आगे बढ़ाना है।

प्रेस कान्फ्रेन्स में डाॅ. जगदीश गांधी ने बताया कि महामहिम श्री खेमराज रामजतन, उप राष्ट्रपति, गयाना गणराज्य, महामहिम श्री लाकोबा टी. इटालेली, गर्वनर जनरल, तुवालु, महामहिम श्री स्टेपान मैसिक, राष्ट्रपति, क्रोशिया गणराज्य (2000-2010), माननीय डाॅ. पकालीथा बी. मोसिसिली, प्रधानमंत्री, लेसोथो (1998-2012 तथा 2015-2017), माननीया श्रीमती सान्तीबाई हनुमानजी, स्पीकर आॅफ पार्लियामेन्ट, माॅरीशस गणराज्य, माननीय श्री आरून माइकल ओक्वे, स्पीकर आॅफ पार्लियामेन्ट, घाना, माननीय श्री महीपाला हैरथ पूर्व मुख्यमंत्री, साबरागायूवा राज्य, श्रीलंका गणराज्य, माननीय जस्टिस श्री इबोए-ओसुजी, न्यायाधीश, इंटरनेशनल क्रिमिनल कोर्ट, नीदरलैंड्स, माननीय जस्टिस श्री एंटोइन केसीआ-एमबी, न्यायाधीश, इंटरनेशनल क्रिमिनल कोर्ट, नीदरलैंड्स के अलावा, दुनिया के 2.5 अरब बच्चों तथा आगे आने पीढ़ी के भविष्य की सुरक्षा के लिए आवाज उठाने के लिए सिटी मोन्टेसरी स्कूल, कानपुर रोड, लखनऊ के आडिटोरियम में 60 देशों के चीफ जस्टिस, जज, कानूनी दिग्गजों और शांति प्रमोटरों की संख्या 270 से ज्यादा है, एकत्रित हो रहे हैं।

‘‘शिशिर श्रीवास्तव, हेड, इण्टरनेशनल रेलेशंस, सिटी मोन्टेसरी स्कूल, लखनऊ ने बताया कि इस सम्मेलन का उद्घाटन एवं समापन समारोह दिनांक 10 नवम्बर 2017 से 14 नवम्बर 2017 तक वल्र्ड यूनिटी कन्वेन्शन सेन्टर, कानपुर रोड शाखा में आयोजित किया जायेगा।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar