न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

आशा ज्योति विद्यपीठ में रोजाना एक अभिभावक बनेगा अतिथि

फरीदाबाद। फरीदाबाद वाईपास पर सेक्टर 65 के निकट शाहुपुरा स्थित आशा ज्योति विद्यापीठ ने अभिभावकों के लिए लिए एक दिन का अतिथि कार्यक्रम लांच किया है, जिसके तहत स्कूल में पढने वाले बच्चों के अभिभावक वर्ष में एक दिन सुबह से शाम तक स्कूल के अतिथि रहेगें, जो कि बच्चों के आने से लेकर जाने तक पूरे दिन बच्चों के साथ रहेगें, और यह देखेंगें कि आशा ज्योति विद्यापीठ प्रबंधन किस प्रकार की शिक्षा बच्चों को दे रहा है। उक्त घोषणा आज स्कूल की प्राचार्या श्रीमती विधु ग्रोवर ने स्कूल में आयोजित अभिभावकों के ओपन हाउस में की, उन्होंने अभिभावकों का आह्वान किया कि आप साल में एक दिन बच्चों के लिए जिससे आपको यह जानकारी मिलेगी कि आपके बच्चों को किस प्रकार के वातावरण में आशा ज्योति विद्यापीठ शिक्षा दे रहा है, उन्होनें कहा कि आप के लिए यह एक दिन होगा लेकिन संस्थान के लिए रोजाना एक अभिभावक गेस्ट होगा तो अभिभावको व शिक्षकों के बीच में वेहतर सामंजस्य स्थापित होगा और अभिभावकों को को भी यह संतुष्ठि होगी कि एक अभिभावक उनके प्रतिनिधी के तौर पर रोजाना स्कूल में पूरे समय उपस्थित रहता है। उल्लेखनीय है कि गुुरुग्राम के एक स्कूल में बच्चे की हत्या के बाद अभिभावकों के मन में उठे प्रश्रों के जबाव देने के लिए आज स्कूल में अभिभावकों का ओपन हाउस का कार्यक्रम रखा गया था। इस कार्यक्रम के दौरान श्रीमती विधु ग्रोवर ने बताया कि संस्थान ने उन सभी नियमों को कठोरता के साथ लागू किया है जो कि माननीय सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश दिए थे। उन्होंने बताया कि स्कूल में कार्यरत समस्त स्टाफ जिसमें वह भी शामिल हैं सभी का पुलिस वेरिफिकेशना कराई गई है, हर जगह पर सी सी टीवी कैमरे लगाए गए हैं, किसी भी ड्राईवर व परिचालक की स्कूल परिसर में एंट्री प्रतिबंधित है, किसी भी गैर जरुरी वाहन का स्कूल समय के दौरान स्कूल में प्रबेश पूर्ण रुप से निषेध है, स्कूल में अधिकत महिला स्टाफ रखा गया है। यही नहीं उन्होंने अभिभावकों का आह्वान किया कि अभिभावक तथा शिक्षक दोनों एक ही पाले में हैं तथा हम दोनो मिलकर ही बच्चों के बेहतर भविष्य का निर्माण कर सकते हैं। श्रीमति विधु ग्रोवर ने कहा कि आज यह समय की जरुरत है कि बच्चों के वेहतर भविष्य निर्माण में लगे आशा ज्योति विद्यापीठ का आप सभी सहयोग करें, इस मौके पर अभिभावकों के प्रश्रों का उत्तर देते हुए उन्होंने बताया कि पिछले दो साल के कार्यकाल में आशा ज्योति विद्यापीठ ने ऐसे ऐसे कीर्तिमान स्थापित किए हैं कि आप सभी को अपने बच्चों पर गर्व है और क्योंकि यह बच्चों का कठिन परिश्रम व आपके योगदान से संभव हो पाया है इस कारण आप भी बधाई के पात्र हैं।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar