न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

इंडोनेशिया में ज्वालामुखी फूटा, हजारों लोगों का पलायन

जकार्ता। लगभग 50 वर्षों के अंतराल के बाद इंडोनेशिया के बाली द्वीप पर स्थित अगुंग पर्वत के ज्वालामुखी के फिर से सक्रिय होने से हजारों लोग अपना घर-बार छोड़कर भाग रहे हैं।  अंतारा न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार ज्वालामुखी से 2000-3400 मीटर ऊंची मोटी राख उठ रही है। ज्वालामुखी वैज्ञानिक और भूवैज्ञानिक आपदा निवारण केंद्र ने फूटे ज्वालामुखी के स्तर को तीन से बढ़ाकर चार कर दिया है। सेंटर हेड गेदे सौंकिता ने कहा है कि क्योंकि रविवार से अगुंग पर्वत की चोटी से पर लावा दिखाई पड़ रहा है। ज्वालामुखी विस्फोट के स्तर को फरिएटिक से मैगमैटिक किया गया है।

उन्होंने बड़े विस्फोट की भी आशंका जताई है। लगातार उठ रही राख से एेसे संकेत प्राप्त हो रहे हैं। ऐसे में कई बार विस्फोट होता है। खतरे के दायरे को ज्वालामुखी की चोटी से छह किलोमीटर से बढ़ाकर आठ किलोमीटर तक कर दिया गया है। ज्वालामुखी के 10 किलोमीटर के दायरे में आने वाले लोगों को वहां से निकल जाने के निर्देश दे दिए गए हैं।
इंडोनेशिया से मिल रही रिपोर्ट के अनुसार 40 हजार भयभीत लोग अपने घर छोड़कर भाग चुके हैं। इस बीच बाली एयरपोर्ट प्रशासन ने 24 घंटे के लिए गुस्ती नगुराह राय अंतरराष्ट्रीय हवाई अड़्डे को बंद कर दिया है। इससे हजारों पर्यटक को दिक्कत पेश आ रही हैं। एयरपोर्ट प्रशासन ने कहा है कि ज्वालामुखी की राख हवाई अड्डे के ऊपर छायी हुई है। इससे मजबूर होकर आज सुबह हवाई अड्डे को बंद कर दिया गया है।
बाली के गवर्नर ने मांगकु पस्तिका ने लोगों को शांति बनाए रखने और भूवैज्ञानिक आपदा निवारण केंद्र के दिशा निर्देशों का पालन करने का अपील की है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar