न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

उँची दर पर बिजली आपूर्ति करने का आरोप गलत: अडानी

नयी दिल्ली। बिजली सहित विभिन्न क्षेत्रों में कारोबार करने वाले अडानी ग्रुप ने ऊंची दर पर सरकारी बिजली आपूर्ति कंपनियों को बिजली बेचने के कांग्रेस के आरोप को तथ्यात्मक रूप से गलत और भ्रमित करने वाला बताते हुये कहा है कि यह राजनीतिक दल पहले भी चुनाव के दौरान मीडिया को इस तरह के आरोपों से भ्रमित करता रहा है।
समूह ने आज जारी एक बयान में कहा कि अडानी पावर लिमिटेड गुजरात की वितरण कंपनियों को दीर्घकालिक बिजली खरीद समझौते के तहत बिजली की आपूर्ति करती है और प्रतिस्पर्धात्मक बोली लगाकर यह समझौता किया गया तथा नियामक ने भी इसे मंजूरी दी। उसने कहा कि कांग्रेस प्रवक्ता द्वारा इस संबंध में लगाये गये आरोप तथ्यात्मक रूप से गलत और भ्रमित करने वाले हैं।
समूह ने कहा कि नियामकों के पास उपलब्ध रिकार्ड के अनुसार अडानी पावर ने किसी भी बिजली वितरण कंपनी को महंगी बिजली नहीं बेची है। कांग्रेस द्वारा 24 रुपये प्रति यूनिट की दर से बिजली आपूर्ति करने के आरोप का उल्लेख करते हुये उसने कहा कि गुजरात बिजली वितरण कंपनी को पिछले चार वर्षाें में औसतन 2.65 रुपये प्रति यूनिट की दर से बिजली की आपूर्ति की गयी है जो बहुत ही प्रतिस्पर्धी दर है।
कंपनी ने कांग्रेस पर पहले भी चुनाव के दौरान मीडिया को भ्रमित करने का आरोप लगाते हुये कहा कि इसी राजनीतिक दल के प्रवक्ता इस तरह के आरोप लगाते रहे हैं लेकिन वे इन आरोपों को साबित नहीं कर पाये क्योंकि कंपनी एक जिम्मेदार कार्पोरेट के रूप में वैधानिक एवं नियामक फ्रेमवर्क के तहत काम कर रही है।
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर वर्ष 2002 से 2016 के दौरान सरकारी कंपनियों को नुकसान पहुंचा कर चार निजी कंपनियों को लाभ पहुंचाने का आरोपों लगाया था। उन्होंने श्री मोदी से सवाल किया था कि गुजरात के मुख्यमंत्री रहते हुये उन्होंने चार निजी कंपनियों से 24 रुपये प्रति यूनिट बिजली क्यों खरीदी थी जबकि सरकारी बिजली वितरण कंपनियां उसे तीन रुपये प्रति यूनिट पर बेचती थी। इस तरह आम लोगों के धन का दुरूपयोग क्यों किया गया।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar