National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

एलईडी एक्सपो का आयोजन 30 नवम्बर से प्रगति मैदान में

भारत का सबसे बड़ा और नंबर 1 एलईडी षो दिल्ली में आयोजित

नई दिल्लीः एक षोध के आधार पर वर्श 2021 तक एलईडी तकनीकि का भारतीय प्रकाष व्यवस्था का हिस्सा 57 प्रतिषत तक बढ़ सकता है। ऐसे में एलईडी के बढ़ते बाजार व मांग को देखकर तथा ग्रीन तकनीकियों के प्रचार-प्रसार के लिए एलईडी लाइट की विषेश प्रदर्षनी ‘‘एलईडी एक्सपो 2017’’ का आयोजन 30 नवम्बर से 2 दिसम्बर 2017 तक दिल्ली के प्रगति मैदान मेसे फै्रकफर्ट इंडिया द्वारा किया जाएगा। ‘‘एलईडी एक्सपो 2017’’ में एलईडी के बढ़ते क्षेत्र में नवाचारों के लिए एक प्रमुख व्यापार का मंच पेष करेगा। यह प्रदर्षनी देष की सबसे बड़ी प्रदर्षनी है, जिसका आयोजन प्रगति मैदान के हाॅल न. 8, 9, 10, 11 व 12 में किया जाएगा।
मेसे फै्रकफर्ट इंडिया के बोर्ड मैम्बर राज मानिक ने बताया कि इस एक्सपो के जरिए एलईडी के क्षेत्र में भारतीय अवसरों की जानकारी व्यापार व उद्योग जगत को होगी और इस क्षेत्र की समझ भी बढ़ेगी। हमारा डिपार्टमेट इलेक्ट्राॅनिक्स व एलईडी के डिजाइन व निर्माण को बढ़ावा देने के लिए नीतिगत पहलूओं का निर्माण कर रहा है। भारत सरकार देष में इलेक्ट्राॅनिक्स निर्माण की सुविधाओं को बनाने के लिए तमाम प्रोत्साहन दे रही है। मसलन संषोधित विषेश प्रोत्साहन पैकेज योजना, इलेक्ट्राॅनिक्स विनिर्माण क्लस्टरों योजना, तय मानको के लिए लिए अनिवार्य पंजीकरण आदेष और स्किल डेवलपमेंट आदि। हमें उम्मीद है कि हमारे इन प्रयासों की जानकारी ‘‘एलईडी एक्स्पो 2017’’ के जरिए ज्यादा से ज्यादा लोगांे तक पहुंचेगी।  आज एलईडी सर्वाजनिक, वाणिज्यिक और निजी स्पेस को रोषन करने के लिए बेहतरीन प्रकाष व्यवस्था के साथ-साथ पर्यावरण के लिए अनुकूल भी है और कार्बन फुटप्रिंट को कम भी करती है। एलईडी लाईट उर्जा बचत, पारंपरिक प्रकाष सोत्रों से लंबे जीवनकाल के लिए, कम गर्मी तथा बिना किसी रुकावट के काम करती है। दुनियां भर से 270 से अधिक प्रदर्षक प्रकाष के क्षेत्र में अपने नवीनतम विचारों को ‘‘एलईडी एक्सपो 2017’’ दिल्ली के प्रगति मैदान में ला रहे हैं, जहां आपको प्रकाष व्यवस्था की सभी समस्याओं का समाधान मिल जाएगा। 
‘‘एलईडी एक्सपो 2017’’ आर्किटेक्ट, इंटीरियर डिजाइनर, लाइटिंग इंजीनियरों, डिजाइनरों, पेषेवर होटल, माॅल मैनेजमंेट, रेस्तरां, कार्यालय, वाणिज्यिक प्रतिश्ठानों, निर्माण व रीयल एस्टेट कंपनियों, भवन निर्माण ठेकेदार, प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंसलटेंट, मोटर वाहन उधोग के लिए आदर्ष स्थल के रुप में होगा। उर्जा कंपनियों, व्यापारियों, प्रकाष वितरकों, एलईडी उत्पादकों, लोक निर्माण विभाग, पीडब्ल्यूडी विभाग, केन्द्रीय लोक निर्माण विभाग, नगर निगम अधिकारियों के लिए यह प्रदर्षनी फायदेमंद साबित हो सकती है। 

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar