National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

ऑस्ट्रेलियाई टीम का रुख बदला नजर आया

ऐडिलेड। दक्षिण अफ्रीका के साथ हुए गेंद से छेड़खानी मामले के कारण अपने प्रमुख खिलाड़ियों के बिना खेल रही ऑस्ट्रेलियाई टीम इस बार पहले से अलग नजर आ रही है। कप्तान टिम पेन की यह युवा टीम पहले की अपेक्षा काफी काफी संयमित है। वहीं पहले की ऑस्ट्रेलियाई टीम आक्रामक रहती थी। जिस प्रकार स्मिथ और डेविड वार्नर पर प्रतिबंध लगा है उससे डरी मेजबान टीम अपनी अभी अपनी असली भावनाएं नहीं दिखा रही। ऑस्ट्रेलियाई कोच जस्टिन लैंगर ने भी कहा है कि उन्हें भारतीय कप्तान विराट कोहली का आक्रामक रवैया और जुनून देखना अच्छा लगता है पर अगर विराट जैसा ही उनकी टीम करती तो उसे दुनिया की सबसे बदतर टीम करार दे दिया जाता।
उन्होंने कहा था, ‘अगर हम उस समय ऐसा करते तो हमें दुनिया का सबसे बदतर इंसान कहा जाता।’ वहीं मैच से पहले भारतीय कप्तान विराट ने कहा था, ‘थोड़ा-बहुत आक्रामक रवैया अपनाने में कोई बुराई नहीं है, जब तक आप सीमा-रेखा पार न करें।’ लगता है कोहली बिलकुल ठीक थे क्योंकि अभी तक मैदान पर दोनों टीमों के खिलाड़ियों ने मैदान पर अच्छा व्यवहार किया है। यहां तक आक्रामक स्वभाव के कारण बदनाम ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज भी गर्मी भरे माहौल में अपनी गुस्से को काबू में रखते दिखे। मिशेल स्टार्क, जोश हेजलवुड और पैट कमिंस में से किसी भी गेंदबाज ने बल्लेबाज को छकाने के बाद अधिक आक्रामकता के साथ ही बेवजह अपील से दूरी बनाये रखी।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar