न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

कंडोम के विज्ञापन पर प्रतिबंध का व्यापारियों ने किया स्वागत

नयी दिल्ली। अखिल भारतीय व्यापारी परिसंघ ने कंडोम के विज्ञापनों पर ‘परिवार समय’ के दाैरान रोक लगाने के फैसले का स्वागत करते हुए आज कहा कि उत्पादों के ब्रांड एम्बेस्डरों की जिम्मेदारी भी तय की जानी चाहिए।
परिसंघ ने यहां जारी एक बयान में कहा कि कंडोम संबंधी विज्ञापनों को केवल रात 10 बजे के बाद दिखाने की अनुमति देने का सरकार का निर्णय स्वागत योग्य है। इस तरह के विज्ञापनों में सामाजिक नैतिक मूल्यों को ध्वस्त किया जाता है। इनका किशोर- किशोरियों की मानसिकता पर बुरा प्रभाव पड़ता है। सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी के फैसले की सराहना करते हुए व्यापारियों ने कहा कि यौन शिक्षा के लिए समग्र नीति बनाने की जरुरत है जिसमें विज्ञापनों को भी शामिल किया जाना चाहिए। मौजूदा समय में दिखाए जाने वाले विज्ञापन अश्लील होते हैं जिन्हें परिवार के साथ नहीं देखा जाता है।
परिसंघ ने कहा कि विभिन्न उत्पादों के विज्ञापनों में आने वाले ब्रांड एम्बेस्डर को जिम्मेदार ठहराने के लिए नीति बनाई जानी चाहिए। साधारण तौर पर ब्रांड एम्बेस्डर बनने वाले लोग समाज में लोकप्रिय होेते हैं और उनका व्यापक प्रभाव होता है। इसलिए उन्हें संबंधित उत्पाद की गुणवत्ता के संबंध में जिम्मेदार माना जाना चाहिए। कंडोम के विज्ञापनों पर रोक लगाने की मांग करते हुए परिसंघ ने सितंबर 2016 में मंत्रालय से शिकायत की थी। सरकार ने टेलीविजन चैनलों पर कंडोम के विज्ञापन के लिए रात 10 बजे से सुबह छह बजे तक का समय तय कर दिया है ताकि बच्चे इन्हें न देख सकें।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar