National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

कांग्रेसी नेता से रिश्वत मांगने के आरोपी रमेश छाबड़ा को अदालत ने भेजा नीमका जेल

फरीदाबाद। हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव सुमित गौड़ को आरटीआई, सीएम विंडो व दुष्प्रचार करके धमकी देकर लाखों की रिश्वत मांगने के आरोप में थाना सैंट्रल में नामजद रमेश छाबड़ा को पुलिस ने गत दिवस गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आज रमेश छाबड़ा को विद्वान न्यायधीश सौरव गोसांई की अदालत में पेश किया, जहां कांग्रेसी नेता सुमित गौड़ की तरफ से वरिष्ठ अधिवक्ता विनीत बजाज वहीं छाबड़ा की तरफ से प्रेम कुमार मित्तल पैरवी कर रहे थे। जिला अदालत ने दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद रमेश छाबड़ा को एक दिन की न्यायिक हिरासत में नीमका जेल भेज दिया। गौरतलब है कि हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव सुमित गौड़ ने कुछ समय पहले कमल नारंग से सेक्टर-15 में मकान नंबर 209 खरीदा था। इस मकान की कम्पलीशन की फाईलों का स्टेट्स जानने के लिए वह गत 25 जुलाई को सेक्टर-12 स्थित हुडा विभाग के सर्वे ब्रांच में अपने मकान की कम्पलीशन की फाईलों के स्टेट्स को जानने के लिए गए थे, जहां मौजूद लक्ष्य छाबड़ा ने श्री गौड़ से इन फाईलों को निकालने की एवज में 3 लाख रुपए रिश्वत की मांग की, परंतु जब श्री गौड़ ने इस पर आपत्ति जताई तो लक्ष्य छाबड़ा ने श्री गौड़ से कहा कि वह बिना पैसे किसी कीमत पर उनकी फाईलें पास नहीं होगी और अगर उन्होंने रुपए नहीं दिए तो वह अपने पिता आरटीआई कार्यकर्ता रमेश छाबड़ा के माध्यम से उनके मकान का कम्पलीशन किसी कीमत पर नहीं होने देंगे। गौड़ के साथ आए उनके दोस्त विष्णु निवासी बल्लभगढ़ ने भी लक्ष्य छाबड़ा को इस प्रकार सरेआम रिश्वत न मांगने के बारे में समझाया परंतु उसने उनकी भी न सुनी। इसके बाद कांग्रेसी नेता सुमित गौड़ ने इस बाबत एक शिकायत थाना सैंट्रल पुलिस में दी थी। इसी मामले मेंथाना सैंट्रल पुलिस ने रमेश छाबड़ा, उसके पुत्र लक्ष्य छाबड़ा और डा. नरेंद्र शर्मा के खिलाफ धारा 385 एवं 506 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया था और गत दिवस रमेश छाबड़ा को एनएच-5 से गिरफ्तार कर उसे आज अदालत में पेश किया। पुलिस का कहना है कि मामले में नामजद दो अन्य आरोपियों को भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

कांग्रेसी नेता से रिश्वत मांगने के आरोपी रमेश छाबड़ा को अदालत ने भेजा नीमका जेल
Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar