National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

किसी भी युवा को नौकरी बिना नहीं रहने दूंगा, चाहे फांसी क्यों न चढऩा पड़े : चौटाला

पूर्व मुख्यमंत्री बल्लभगढ़ में कार्यकर्ताओं से हुए रुबरु

फरीदाबाद। पूर्व मुख्यमंत्री एवं इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला ने कांग्रेस पर हल्ला बोलते हुए कहा कि उन्हें एक साजिश के तहत जेल भिजवाकर कांग्रेस ने इनेलो संगठन को खत्म करने का षडयंत्र रचा था परंतु इस दौरान इनेलो पार्टी और मजबूती से उभरी और आज ऐसे गद्दार कांग्रेस छोडक़र भाजपा में जा चुके है और अब इनेलो के बढ़ते जनाधार के चलते वह इनेलो में आने के लिए छटपटा रहे है परंतु ऐसे गद्दारों, धोखेबाजों को पार्टी में नहीं लिया जाएगा बल्कि पार्टी में कर्मठ, मेहनती व ईमानदार कार्यकर्ताओं को पूरा मान-सम्मान दिया जाएगा। श्री चौटाला आज बल्लभगढ़ की अनाज मंडी में वरिष्ठ इनेलो नेता ललित बंसल के यहां आयोजित कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। श्री चौटाला ने जोर देते हुए कहा कि अगर वह दो दिन और रुक जाते तो प्रदेश में उनकी सरकार बन जाती परंतु उन्होंने अदालत की अवमानना नहीं की बल्कि न्याय पालिका में भरोसा जताते हुए उसका सम्मान किया और आगे भी वह माननीय अदालत के आदेशों का सम्मान करेंगे। उन्होंने कहा कि प्रजातंत्र में सरकारें बदलती है, सिस्टम नहीं बदलता। ताऊ देवीलाल द्वारा बुजुर्गाे के सम्मान के लिए शुरु की गई पैंशन योजना आज भी प्रदेश में चल रही है, सरकारें केवल इनमें संशोधन कर सकती है। उन्होंने कहा कि आगामी चुनावों में वह उनके बीच होंगे और प्रदेश में फिर से इनेलो की लहर चलेगी और पार्टी पूर्ण बहुमत से सत्ता में आएगी और सरकार बनने पर सबसे पहले किसी भी युवा को बिना नौकरी के नहीं रहने दिया जाएगा, चाहे इसके लिए उन्हें फंासी पर ही क्यों न चढऩा पड़े। इनेलो सुप्रीमो ने भाजपा-कांग्रेस को एक सिक्के के दो पहलू करार देते हुए कहा कि दोनों ही जनविरोधी है और दस वर्षाे में कांग्रेस ने किसी का भला नहीं किया और भाजपा सरकार में कुछ हो ही नहीं रहा। प्रदेश में गुंडातत्व हावी है और कानून व्यवस्था का दिवाला पिटा हुआ है, जनता फिर से इनेलो का शासनकाल याद करने लगी है और पुन: इनेलो के रुप में अपनी सरकार चुनने का मन बना चुकी है। इस अवसर पर इनेलो नेता लखन बैनीवाल, केजी गोस्वामी, पूर्व मेयर अनिता गोस्वामी, महावीर चौहान, पवन रावत, मुनेश निर्वाल सहित अनेकों इनेलो कार्यकर्ता मौजूद थे। गौरतलब है कि जेबीटी शिक्षक भर्ती घोटाले में मामले में पूर्व मुख्यमंत्री चौ. ओमप्रकाश चौटाला को दस वर्ष की कैद हो चुकी है और इन दिनों वह पैरोल पर बाहर आए हुए है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar