न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

‘कैश फॉर क्वेरी’ : पूर्व सांसदों के खिलाफ आरोप तय

नयी दिल्ली। धन लेकर संसद में सवाल पूछने के मामले में दिल्ली की एक अदालत ने 11 पूर्व सांसदों और एक अन्य पर रिश्वत लेने और आपराधिक साजिश रचने के आरोप आज तय कर दिये।
विशेष न्यायाधीश किरन बंसल ने 2005 के इस मामले में आरोप तय किये, जिन पर 12 जनवरी से सुनवाई प्रारंभ होगी। दो पत्रकारों ने इन सांसदों के खिलाफ स्टिंग किया था, जिसे एक निजी टेलीविजन चैनल ने 12 दिसम्बर 2005 को प्रसारित किया था। उस समय इसे लेकर बहुत हंगामा हुआ था।
‘कैश फॉर क्वेरी’ से मशहूर हुए इस मामले में जिन पूर्व सांसदों पर आरोप तय किये गये हैं, उनमें भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के छह, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के तीन, कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) का एक-एक नेता शामिल है।
भाजपा के पूर्व सांसद हैं- छत्रपाल सिंह लोढा, अन्ना साहेब एम के पाटिल, वाई जी महाजन, चंद्र प्रताप सिंह, प्रदीप गांधी और सुरेश चंदेल। इस मामले में बसपा के राजा रामपाल, लाल चंद्र कोल और नरेन्द्र कुमार कुशवाहा, कांग्रेस के रामसेवक सिंह तथ राष्ट्रीय जनता दल के मनोज कुमार के खिलाफ आरोप तय किये गये हैं। इसके अलावा बसपा के पूर्व सांसद रामपाल के तत्कालीन निजी सहायक रवीन्द्र कुमार पर भी आरोप तय किये गये हैं।
सरकारी वकील अतुल श्रीवास्तव ने बताया कि इस मामले के कथित बिचौलिये विजय फोगाट का निधन हो गया है और उसके खिलाफ मामला बंद कर दिया गया है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar