National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

क्या हनीप्रीत से नाराज है राम रहीम, जेल में मिलने वालों की लिस्ट से नाम गायब

डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम दो साध्वियों से यौन शोषण करने के आरोप में 20 साल की सजा काट रहा है. राम रहीम अभी रोहतक जेल में बंद है. गुरुवार को राम रहीम ने जेल में जिन करीबियों से मिलने की लिस्ट दी है, वह थोड़ी चौंकाती है. इस लिस्ट में राम रहीम की करीबी माने जाने वाली उसकी दत्तक पुत्री हनीप्रीत का नाम शामिल नहीं है. हालांकि इस लिस्ट में राम रहीम की दूसरी दोनों बेटियां शामिल हैं, इसके अलावा दोनों दामाद और करीबी सेवादार हैं.

कौन-कौन मिलेगा राम रहीम से?

जसमीत इंसा – बेटा

चरणप्रीत – बेटी

अमरप्रीत – बेटी

शान-ए-मीत – दामाद

रुह-ए-मीत – दामाद

हरमिंदर सिंह जस्सी – समधी

डेरा सच्चा सौदा की कमेटी के मेंबर और डेरे के सेवादार –

जगजीत सिंह – कमेटी मेंबर

पी. आर. नैन – एक्स मैनेजर

धरम सिंह – करीबी सेवादार

गोबी राम – करीबी सेवादार

मोहन सिंह – करीबी सेवादार

क्या कहता है नियम? 

नियम के मुताबिक जेल में बंद कैदी अपनी मर्जी से ऐसे लोगों के नाम जेल प्रशासन को दे सकता है जोकि उससे मिलने के लिए अधिकृत होंगे. कैदी की तरफ से दिए गए नामों के अलावा किसी और को जेल के अंदर आकर कैदी से मिलने की परमिशन नहीं होगी. आपको बता दें कि इससे पहले खबर थी कि राम रहीम ने जेल में अपनी गोद ली गई बेटी हनीप्रीत को साथ रखने की मांग की थी. हालांकि अधिकारियों ने उसकी मांग को ठुकरा दिया. उसे साथ रखे जाने के पीछे राम रहीम ने कमर दर्द का हवाला दिया था. उसका कहना था कि हनीप्रीत एक्यूप्रेशर की एक्सपर्ट है.

कौन है हनीप्रीत?

हमेशा गुरमीत राम रहीम के साथ दिखने वाली हनीप्रीत का असली नाम प्रियंका तनेजा है. उसे वर्ष 2009 में राम रहीम ने हरियाणा के फतेहाबाद जिले में गोद लिया था. हनीप्रीत ही राम रहीम के सोशल अकाउंट संचालित करती है. यहां तक राम रहीम के ट्वीट और उनके जवाब भी वही देती है. राम रहीम के बाद डेरे में उसी का राज चलता है. वह राम रहीम को अपना गुरु बताती है और उसे पापा कहकर संबोधित करती है.

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar