National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

गुरुग्राम के रायन इंटरनैशनल स्कूल में बच्चे का मर्डर, बस कंडक्टर गिरफ्तार

गुरुग्राम। साइबर सिटी के नाम से मशहूर हरियाणा के गुरुग्राम में शुक्रवार को भरोसे के कत्ल का वाकया सामने आया है। ऊंची-ऊंची इमारतों और दुनिया की तमाम बड़ी कंपनियों के दफ्तर वाले इस शहर के एक बड़े स्कूल में एक बच्चे की जघन्य हत्या कर दी गई। हत्या करने वाला कोई और नहीं बल्कि उसी स्कूल का एक बस कंडक्टर निकला। मृतक प्रद्युम्न रोज सुबह मुस्कुराते हुए स्कूल के लिए रवाना होता था। हर रोज सुबह प्रद्युम्न के मां-बाप अपने बेटे को इस इत्मीनान के साथ स्कूल भेजते थे कि स्कूल में उनका बच्चा सुरक्षित होगा, लेकिन रक्षक ही भक्षक निकला। हैवान बस कंडक्टर अशोक ने 7 वर्षीय बच्चे के साथ जोर-जबर्दस्ती की कोशिश की थी, लेकिन जब बच्चे ने शोर मचा दिया तो उसने बड़ी ही निर्ममता के साथ उसकी हत्या कर दी। हत्यारे कंडक्टर ने एक घर का चिराग बुझा दिया। उसकी हैवानियत ने प्रद्युम्न के मां-बाप को ताउम्र सालने वाला एक दर्द दे दिया। भोंडसी स्थित रायन इंटरनैशनल स्कूल में दूसरी कक्षा में पढ़ने वाला छात्र प्रद्युम्न का शव टॉइलट में मिला था। गुरुग्राम पुलिस ने इस मामले में हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। स्कूल स्टाफ से पूछताछ के बाद बस के कंडक्टर को गिरफ्तार कर लिया गया है।  गुरुग्राम पुलिस के डीसीपी ने बताया कि कंडक्टर ने बच्चे के साथ जोर-जबर्दस्ती की कोशिश की थी। जब बच्चे ने अलार्म बजा दिया तो कंडक्टर ने उसकी हत्या कर दी। आरोपी पिछले 6-8 महीने से यहां काम कर रहा था। जब वह टॉइलट में गया तब उसने वहां बच्चे को देखा। उसके पास चाकू भी था। बातचीत में पोस्टमॉर्टम करने वाले डॉक्टर दीपक माथुर ने सेक्शुअल अब्यूज की बात को सिरे से खारिज किया है। डॉक्टर के मुताबिक बच्चे के शरीर और गले के अलावा हाथापाई का कोई निशान नहीं मिला है। आंसुओं में डूबे प्रद्युम्न के पिता ने स्कूल प्रशासन को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा, ‘मेरा 7 साल का बच्चा मारा गया है। अगर स्कूल में ही बच्चों की हत्या हो जाएगी, तो हम आखिर किस भरोसे पर अपने बच्चों को 8 घंटे के लिए स्कूल में छोड़ सकते हैं?’

खून से लथपथ मिला था शव
शुक्रवार को बच्चे का शव खून से लथपथ पाया गया। शव के पास से एक चाकू भी बरामद हुआ। मृत बच्चे की पहचान 7 साल के प्रद्युम्न के रूप में की गई। जानकारी मिलने के बाद पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। इस बीच स्कूल के छात्र की संदिग्ध मौत के बाद लोगों का गुस्सा भड़क उठा। नाराज लोगों ने स्कूल में घुसकर जमकर तोड़फोड़ की। इस दौरान खिड़कियों के शीशे तोड़ दिए गए। रायन स्कूल प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी भी की गई।

स्कूल से परिजनों को फोन
बताया जा रहा है कि बच्चे के स्कूल पहुंचने के 10 मिनट बाद ही यह घटना हुई। जानकारी के मुताबिक अभिभावक के पास स्कूल से फोन गया था कि उनका बच्चा टॉइलट में गिर गया है। स्कूल की केयरटेकर नीरजा बत्रा का कहना है, ‘हमें नहीं पता कि हकीकत में प्रद्युम्न के साथ क्या हुआ है। जैसे ही हमें बच्चे के साथ हादसे के बारे में पता चला, हम उसे अस्पताल में इलाज के लिए लेकर गए।’

दिल्ली ब्रांच में भी हुई थी संदिग्ध मौत
रायन इंटरनैशनल स्कूल में यह ऐसा पहला वाकया नहीं है। 20 जनवरी 2016 को 6 साल के बच्चे देवांश ककरोरा की वसंत कुंज स्थित रायन इंटरनैशनल स्कूल में पानी की टंकी में डूबकर मौत हो गई थी। सीसीटीवी फुटेज के मुताबिक थोड़ी देर पहले ही देवांश को ग्राउंड में खेलते देखा गया था। वसंत कुंज नॉर्थ थाने में लापरवाही का केस दर्ज कर लिया गया था। पुलिस ने प्रिंसिपल समेत 4 अन्य लोगों को इस मामले में गिरफ्तार किया था।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar