National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

गौओं की पूजा के साथ साथ सेवा भी करें लोग : स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य

गोपाष्टमी के अवसर पर हजारों की संख्या में जुटे गौभक्तों ने की गौसेवा

फरीदाबाद। गौ भारतीय परंपरा की आधार हैं। इनमें सभी देवों का वास माना जाता है। लेकिन भक्तों को गौपूजा के साथ साथ गौ सेवा भी करनी चाहिए। तभी गौधन का संरक्षण होगा। यह बात श्री सिद्धदाता आश्रम के अधिपति अनंतश्री विभूषित इंद्रप्रस्थ एवं हरियाणा पीठाधीश्वर श्रीमद जगदगुरु रामानुजाचार्य स्वामी श्री पुरुषोत्तमाचार्य जी महाराज ने भक्तों से कही। वह आश्रम द्वारा संचालित श्री नारायण गौशाला में आयोजित गोपाष्टमी महोत्सव पर प्रवचन कह रहे थे। उन्होंने हजारों की संख्या में जुटे भक्तों को प्रसाद भी प्रदान किया।  इससे पहले प्रात: हरियाणा के केबिनेट मंत्री विपुल गोयल ने स्वामी जी के साथ गौपूजन कर पुण्य अर्जित किया। श्री गोयल ने स्वामी श्री पुरुषोत्तमाचार्य जी महाराज से आशीर्वाद प्राप्त कर उनकी गौसेवा के क्षेत्र में कार्य को सराहा। उन्होंने कहा कि श्री नारायण गौशाला सुंदर और व्यवस्थित शीर्ष गौशालाओं में शामिल है और इसके फरीदाबाद में होने पर हमें गर्व है। उनके साथ भाजपा के वरिष्ठ नेता श्री राजेश नागर भी मौजूद रहे। इस मौके पर मंत्री विपुल गोयल के भतीजे अमन गोयल ने भी गौसेवा की।  स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य जी महाराज ने गौपूजन उपरांत सभी के साथ मिलकर गौओं को हरा चारा, गुड़, चना आदि प्रदान किया। उन्होंने सभी से आहवान किया कि गौ हमारी संस्कृति का आधार है। लेकिन इसे केवल मानने से बात नहीं बनेगी। इसके लिए गौओं की सेवा भी करनी होगी। उन्होंने सभी से यथायोग्य गौ सेवा करने का आहवान किया।  उन्होंने कहा कि गोपाष्टमी भारतीय संस्कृति का एक प्रमुख पर्व है। जो हर वर्ष कार्तिक शुक्ल पक्ष की अष्टमी को मनाया जाता है। लेकिन यह पर्व हमें याद दिलाता है कि हमारी रक्षा के सभी गुणों से युक्त गौ माता का हमें संरक्षण करना है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar