National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के तख्तापलट की हुई थी कोशिश

बीजिंग। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के तख्तापलट की कोशिश की गई थी, जिसे ध्वस्त कर दिया गया। चाइनीज सिक्योरिटी रेगुलेटरी कमीशन के प्रमुख लियू शियू ने बताया कि षडयंत्र में चीन के कुछ बेहद कद्दावर राजनीतिज्ञ शामिल थे। इन लोगों को भ्रष्टाचार के खिलाफ चलाई जा रही मुहिम से परेशानी थी, जिसके चलते इन लोगों ने साजिश रची थी।

लियू ने यह बात कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (सीपीसी) की पांच साल में एक बार होने वाली कांग्रेस से इतर एक मौके पर कही। उनके बयान को हांगकांग के साउथ चाइना मार्निग पोस्ट में जगह दी गई है। गुरुवार को उन्होंने कहा कि कुछ अपमानित नेताओं ने यह साजिश रची थी। इनमें मेगासिटी चोंगक्विंग के पूर्व प्रमुख व कभी पोलित ब्यूरो स्टैडिंग कमेटी के दावेदार रहे नेता सन झेंग्काई शामिल हैं। उन्हें व उनकी पत्नी को शी जिनपिंग ने पद से मुक्त कर दिया था। अनुशासनात्मक कार्यवाही के लिए उन्हें हिरासत में ले लिया गया था।

फिलहाल चीन में कयास लगाए जा रहे हैं कि शी चिनफिंग की भ्रष्टाचार विरोधी मुहिम के निशाने पर टाइगर्स व फ्लाइज आ रहे हैं। लियू का कहना है कि झोउ योंगकांग, बो व कई अन्य जनरल ट्रायल पर लिए गए हैं। यह पहली बार है जब आधिकारिक तौर पर इस तरह का रहस्योद्घाटन किया गया है। लियू का कहना है कि झोउ योंगकांग, बो जिलई, सन झेंग्काई व अन्य नेता उच्च पदस्थ थे, लेकिन सभी भ्रष्ट थे। इन लोगों ने शी जिनपिंग को हटाने के लिए साजिश रची थी।

चीन की सरकारी न्यूज एजेंसी ने बताया कि सन को पिछले माह पार्टी से निकाल दिया गया था और उन्हें ट्रायल के लिए न्यायिक अधिकारियों के हवाले कर दिया गया था, लेकिन जांच पर कुछ नहीं बताया गया। गुरुवार को यांग (सीपीसी के केंद्रीय अनुशासनात्मक आयोग के उप सचिव) ने बताया कि पार्टी के 440 वरिष्ठ व 43 उच्च पदस्थ अधिकारियों के खिलाफ भ्रष्टाचार विरोधी मुहिम के तहत जांच की जा रही है। दो लाख 78 हजार कार्यकर्ताओं को भी दंडित किया गया है। विदेशी बिरादरी के साथ मिलकर चीन भगोड़े अपराधियों को धर पकड़ का काम तेजी से कर रहा है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar