National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

चुनाव प्रचार में आगे निकली भाजपा, कांग्रेस में अकेले वीरभद्र ने संभाला मोर्चा

शिमला. हिमाचल प्रदेश विधानसभा के चुनाव प्रचार में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस को पछाड़ दिया है। भाजपा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित अपने स्टार प्रचारकों के दौरे तय कर दिए हैं। पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा प्रदेश के विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों का तूफानी दौरा कर रहे हैं। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह सहित भाजपा के तमाम राष्ट्रीय नेता अगले एक हफ्ते में राज्य में चुनाव प्रचार में बिताएंगे। इनमें केंद्र सरकार के मंत्रियों के अलावा उत्तर प्रदेश, हरियाणा, उतराखंड और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री भी शामिल हैं। प्रत्येक नेता का दो से तीन दिन का राज्य में चुनाव प्रचार का कार्यक्रम तय हुआ है। राष्ट्रीय नेताओं के अलावा प्रधानमंत्री मोदी भी राज्य में तीन बड़ी रैलियाें के माध्यम से माहौल पार्टी के पक्ष में करने के लिये यहां आने वाले हैं। वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस की ओर से अकेले मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ही पार्टी के चुनाव प्रचार का बीड़ा उठाये हुये हैं। हालांकि, उत्तराखंड और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री क्रमश: हरीश रावत और भूपेंद्र सिंह हुड्डा सरीखे कुछ नेता हाल ही में राज्य में चुनाव प्रचार में अपनी हाजिरी लगा कर लौट चुके हैं। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी भी गत गुरुवार को चुनाव प्रचार के लिये शिमला पहुंची थीं लेकिन अचानक तबीयत खराब होने के कारण उन्हें दिल्ली लौटना पड़ा। पार्टी श्री वीरभद्र सिंह को पुन: मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित कर उनके नेतृत्व में चुनाव लड़ रही है। श्री वीरभद्र हर दिन दो से तीन क्षेत्रों में जनसभाओं को सम्बोधित कर रहे हैं और लेकिन अर्की विधानसभा क्षेत्र से नामांकन दाखिल करने के उपरांत वह अपने इस हल्के में नहीं जा सके हैं। श्री वीरभद्र सिंह से पांच साल तक उलझने वाले कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू सहित सभी मंत्री अपने-अपने चुनाव क्षेत्र में प्रचार तक ही समिति रह गए हैं। कांग्रेस में चुनाव प्रचार का सारा दारोमादार मुख्यमंत्री पर आ गया है और वह अकेले ही प्रचार का मोर्चा संभाले हुये हैं। राष्ट्रीय नेताओं की गैर मौजूदगी के कारण पार्टी प्रत्याशियों में उनकी बड़ी मांग है। पार्टी अभी तक अपने स्टार प्रचारकों सोनिया और राहुल गांधी की जनसभाओं के लिये स्थान तय नहीं कर पाई है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar