न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

चेन्नई सुपर किंग्स ने दिल्ली कैपिटल्स को 6 विकटों से हराया

नई दिल्ली। IPL 2019 CSK vs DC दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर दिल्ली और चेन्नई के बीच आइपीेल का पांचवां मुकाबला खेला गया। इस मैच में धौनी की अनुभवी सेना के सामने श्रेयस की युवा ब्रिगेड फीकी साबित हुई। इस मैच में चेन्नई ने बाजी मारी और दिल्ली को 6 विकेट से हराकर इस टूर्नामेंट में लगातार दूसरी जीत दर्ज की। इस मैच में दिल्ली ने पहले खेलते हुए निर्धारित 20 ओवर में 6 विकेट के नुकसान पर 147 रन बनाए। जीत के लिए मिले 147 रन के लक्ष्य को चेन्नई ने छह विकेट शेष रहते हासिल कर लिया। सीएसके ने 19.4 ओवर में चार विकेट पर 150 रन बनाए। इस जीत के साथ चेन्नई अंक तालिका में चार अंक के साथ पहले नंबर पर पहुंच गया है।
चेन्नई सुपरकिंग्स के अनुभवी ऑलराउंडर ड्वेन ब्रावो (3/33) और अन्य गेंदबाजों ने फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में आइपीएल-12 के मुकाबले में दिल्ली कैपिटल्स के बल्लेबाजों पर लगाम लगाते हुए मेजबान टीम को 20 ओवर में छह विकेट पर 147 रनों पर ही रोक दिया। मुंबई के खिलाफ बड़ा स्कोर करने वाले दिल्ली के बल्लेबाज चेन्नई की अनुभवी गेंदबाजों के आगे बेबस नजर आए। सिर्फ शिखर धवन (51) ही कुछ हद तक संघर्ष कर पाए।
मुंबई के खिलाफ भी दिल्ली ने पांच विशेषज्ञ बल्लेबाजों को अंतिम एकादश में शामिल किया था और इस बार भी टीम ने यही गलती की। मुंबई के खिलाफ शुरुआती झटकों के बाद रिषभ पंत ने पारी को संभाला था, लेकिन इस बार उनका बल्ला नहीं चला और टीम चुनौतीपूर्ण स्कोर ही खड़ा कर पाई।
टूटी उम्मीद : दिल्ली के कप्तान श्रेयस अययर ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ से बड़ी पारी की उम्मीद की जा रही थी जो मुंबई इंडियंस के खिलाफ सात रन पर ही आउट हो गए थे। उन्होंने कुछ अच्छे शॉट भी खेले। उन्होंने पारी के दूसरे ओवर में शार्दुल ठाकुर पर लगातार तीन चौके लगाए। इसके अलावा उन्होंने हरभजन के ओवर में हिम्मत दिखाते हुए क्रीज से बाहर आकर चौका भी जड़ा। लग रहा था कि वह पिछले मैच की कसक को यहां पूरा करेंगे, लेकिन वह चौका लगाने की कोशिश में दीपक चाहर (1/20) की गेंद पर शेन वॉटसन को कैच दे बैठे। दिल्ली ने पावरप्ले के छह ओवर में एक विकेट पर 43 रन बनाए। चेन्नई के गेंदबाजों ने मेजबान टीम के बल्लेबाजों को ज्यादा खुलकर नहीं खेलने दिया और टीम 50 रन 45 गेंदों में बना पाई।
पंत के जोश पर धौनी का चतुर दिमाग : धौनी ने अपने स्पिनरों रवींद्र जडेजा और इमरान ताहिर को लगाया। ताहिर ने जल्द ही श्रेयस (18) को एलबीडब्ल्यू आउट करके पवेलियन भेज दिया। इसके बाद पंत क्रीज पर आए। इस समय टीम का स्कोर दो विकेट पर 79 रन था। दिल्ली को एक बार फिर पंत से बड़ी पारी की उम्मीद थी लेकिन उनके युवा जोश पर धौनी का चतुर दिमाग भारी पड़ा। पंत को रोकने के लिए धौनी ने अपने मुख्य स्पिनर हरभजन सिंह का एक, जडेजा के दो और ताहिर के दो ओवर यानी कुल पांच ओवर बचा कर रखे थे। साथ ही धौनी ने ड्वेन ब्रावो को दूसरी साइड से लगाना शुरू किया और उनके ओवर की पहली गेंद ही पंत के बल्ले का किनारा लेकर गई, लेकिन गेंद धौनी से दूर थी और वह इस मुश्किल मौके को भुना नहीं पाए। इस दौरान, धवन ने ब्रावो की गेंद पर ऑफ साइड में चौका लगाकर टीम के 100 रन पूरे किए। 14 ओवर में दिल्ली का स्कोर दो विकेट पर 108 रन था। इस दौरान पंत ने हरभजन के आखिरी ओवर की आखिरी गेंद पर छक्का जड़कर अपने हाथ खोलने की कोशिश की। पंत को लेग साइड पर शॉट खेलना ज्यादा पसंद है और मुंबई के खिलाफ पंत ने ज्यादा रन शॉट पिच गेंदों पर लेग साइड में ही बनाए थे। इसी का देखते हुए धौनी ने उनके लिए वहां तीन खिलाडि़यों को सीमा रेखा के पास लगा रखा था। पंत ने ब्रावो की गेंद पर छक्का उड़ाने की कोशिश में अच्छा शॉट खेला, लेकिन शार्दुल ने उनका बेहतरीन कैप लपककर अपनी टीम को बड़ा विकेट दिलाया। पंत ने 13 गेंदों में 25 रन बनाए।
अर्धशतक बनाकर चले धवन : पंत को आउट करने के बाद ब्रावो ने इस ओवर में कोलिन इंग्राम (02) को चलता किया। फिर अगले ओवर में रवींद्र जडेजा (1/23) ने कीमो पॉल को खाता खोले बिना बोल्ड कर दिया। इस दौरान धवन ने अपना आइपीएल का 34वां पचासा पूरा किया। दिल्ली को बड़े स्कोर तक लेने जाने का अब दारोमदार धवन पर था लेकिन उन्होंने ब्रावो की गेंद पर शॉट खेला और गेंद सीधा ठाकुर के हाथों में जा समाई। धवन ने अपनी पारी के दौरान 47 गेंदों का सामना किया जिसमें चार चौके लगाए। अंतिम छह ओवर में दिल्ली ने 39 रन बनाए और अपने चार विकेट खो दिए।
चेन्नई की अच्छी बल्लेबाजी : इस मैच में चेन्नई के अनुभवी बल्लेबाजों ने धैर्यभरी बल्लेबाजी करते हुए इस मुकाबले को जीत लिया। चेन्नई का पहला विकेट अंबाती रायुडू के तौर पर गिरा और वो पांच रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद वॉटसन ने 26 गेंदों पर 44 रन की अच्छी पारी खेलते हुए टीम को जीत के रास्ते पर ला दिया। वो मिश्रा की गेंद पर पंत के हाथों कैच आउट हुए। रैना ने भी अच्छे हाथ दिखाए और 16 गेंदों पर 30 रन बना दिए। केदार जाधव 27 रन बनाकर आउट हो गए उसके बाद धौनी ने नाबाद 32 रन और ब्रावो ने नाबाद 4 रन बनाकर अपनी टीम को जीत दिला दी।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar