National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

जिला कांग्रेस कमेटी ने मनाई नोटबंदी की बरसी, फूंका प्रधानमंत्री का पुतला

फरीदाबाद। जिला कांग्रेस कमेटी ने आज नोटबंदी के एक वर्ष पूरे होने पर इसे नोटबंदी की बरसी के रुप में मनाया। कांग्रेसी नेताओं ने सर्वप्रथम सेक्टर-12 स्थित लघु सचिवालय पर एकत्रित होकर दो मिनट का मौन रखकर उन 152 लोगों को श्रद्धांजलि दी, जो मोदी सरकार के गलत फैसले से बलि चढ़ गए। इस विशाल  प्रदर्शन का नेतृत्व प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव एवं फरीदाबाद प्रभारी प्रदीप जैलदार द्वारा किया गया। इस मौके पर मुख्य रुप से पूर्वमंत्री ए.सी. चौधरी, पूर्व मंत्री शारदा रानी, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव सुमित गौड़, इंदिरा गांधी शताब्दी कमेटी के प्रदेश प्रवक्ता विकास चौधरी,राकेश भड़ाना, सत्यवीर डागर, सरदार परमजीत सिंह गुलाटी, ज्ञानचंद आहुजा, युवा कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष नरेश गोदारा, संगठन सचिव ललित भड़ाना, पूर्व मेयर अतर सिंह, सुनील तेवतिया, रेनू चौहान, अनीशपाल, राजेश आर्य, राजू धारीवाल, मनोज प्रधान, गजेंद्र सिंह, ब्रहमप्रकाश गोयल मौजूद थे।  इस दौरान कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने ‘नोटबंदी का एक साल-जनता हुई बदहाल’ देश बचाओ-भाजपा भगाओ’ जैसे स्लोगन की तख्तियां लेकर जमकर भाजपा सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंका। इस दौरान कांग्रेसी नेताओं ने हाथों एवं सिर पर काली पट्टी बांधकर महामहिम राष्ट्रपति के नाम जिला उपायुक्त के माध्यम से ज्ञापन सौंपते हुए जीएसटी में व्यापारियों को राहत प्रदान करने की मांग की। प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए प्रदीप जैलदार ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का नोटबंदी का निर्णय पूरी तरह से गलत था, जिसके दुष्परिणाम एक वर्ष पूरे होने के बाद भी लोगों को भुगतने पड़ रहे है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के चलते जहां देश में भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिला है वहीं छोटे व्यापारी व छोटे उद्योग पूरी तरह से बर्बाद हो गए है। सरकार का यह निर्णय आनन-फानन में लिया गया था, जिसने पूरे देश की अर्थव्यवस्था को गड़बड़ा दिया। उन्होंने कहा कि आज देश में विकास दर निरंतर गिर रही है और उद्योगधंधे पूरी तरह से बर्बादी के कगार पर पहुंच गए है। इस मौके पर इंदिरा गांधी शताब्दी कमेटी के प्रदेश प्रवक्ता विकास चौधरी ने कहा कि नोटबंदी के चलते 152 लोगों को जहां अपनी जान गंवानी पड़ी वहीं करीबन तीन माह तक जनता बेहाल रही। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के इस गलत निर्णय से जहां 4 करोड़ लोगों के रोजगार छीन गए वहीं 90 प्रतिशत उद्योग बंद हो गए। वहीं देश में भ्रष्टाचार में भी बढ़ोतरी हुई और आतंकवाद पर कोई लगाम नहीं लगी बल्कि आए दिन आतंकी संगठन देश में हमले करते रहते है। श्री चौधरी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने नोटबंदी कर देश को बर्बादी के कगार पर पहुंचा दिया, जबकि अपने करीबी नेताओं व पूंजीपतियों को मालामाल कर दिया। यह देश के लिए दुखद दिन है इसलिए प्रधानमंत्री मोदी को जश्र नहीं बल्कि देश की जनता से माफी मांगनी चाहिए।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar