National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

जीएसटी रिटर्न दाखिल करने की समयसीमा 25 अगस्त तक बढ़ी

सरकार ने गुड्स ऐंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) की नई व्यवस्था के तहत जुलाई महीने का रिटर्न फाइल करने और टैक्स भुगतान करने की अंतिम तिथि 5 दिन बढ़ाकर 25 अगस्त कर दी। जीएसटी नेटवर्क पोर्टल पर भारी दबाव से तकनीकी दिक्कतें आने के कारण सरकार ने शनिवार को यह फैसला किया। इससे पहले जुलाई महीने का रिटर्न दाखिल करने और टैक्स चुकाने की समय सीमा रविवार को समाप्त होने वाली थी।

जीएसटी व्यवस्था लागू होने के बाद पहली बार रिटर्न दाखिल की जा रही है। वित्त मंत्रालय ने एक बयान जारी कर बताया, ‘जीएसटी क्रियान्वयन समिति जिसमें राज्य और केंद्र के अधिकारी शामिल हैं, ने जुलाई महीने के लिए जीएसटी भुगतान की अंतिम तिथि बढ़ाकर 25 अगस्त करने का निर्णय लिया है।’ बयान में कहा गया कि बाढ़ से प्रभावित कुछ राज्यों और जम्मू कश्मीर ने भी समय सीमा बढ़ाने की मांग की थी।

ऐसे टैक्स पेयर्स जिन्होंने पहले किए गए टैक्स भुगतान पर क्रेडिट का दावा करने हैं, उन्हें ट्रांस-1 फॉर्म भरना है। उनके लिए रिर्टन भरने की अंतिम तिथि बढ़ाकर 28 अगस्त कर दी गई है। मंत्रालय ने कहा है, ‘रिटर्न दाखिल करने में अंतिम समय पर होने वाली तकनीकी दिक्कतों से बचने के लिए सभी टैक्स पेयर्स से अनुरोध किया जाता है कि वे 25 और 28 अगस्त 2017 की अंतिम तिथि की प्रतीक्षा किए बिना पहले ही रिटर्न दाखिल कर दें। वे अंतिम दिन का इंतजार नहीं करें।’

उल्लेखनीय है कि देश भर में कारोबारियों को रिटर्न दाखिल करने और टैक्स भुगतान करने में आज सुबह से ही दिक्कतें आ रही थी। जीएसटी नेटवर्क ने इसके मद्देनजर ट्विटर पर लिखा था, ‘जीएसटी पोर्टल में कुछ दिक्कतें आ रही हैं। कृपया कुछ समय बाद कोशिश करें।’ जीएसटी व्यवस्था के तहत पहली बार रिटर्न दाखिल करने का काम 5 अगस्त से शुरू हुआ है। देश में जीएसटी व्यवस्था एक जुलाई 2017 से लागू हुई है। इस व्यवस्था में 72 लाख पुराने पंजीकृत कारोबारी स्थानांतरित हुए हैं और इनमें से करीब 50 लाख ने स्थानांतरण की प्रक्रिया को पूरा कर लिया है। इस बीच मुंबई से प्राप्त समाचार के अनुसार मुंबई क्षेत्र में पंजीकरण के लिए व्यापारियों से 50 हजार आवेदन प्राप्त हुए हैं। इनमें से ज्यादातर को पंजीकरण संख्या दे दी गई है। एक वरिष्ट अधिकारी ने यह जानकारी दी।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar